ताडऩे वालों की जवाबदेही

धीरेंद्र शास्त्री यानि बागेश्वर धाम सरकार का खेल समझने के लिए कई बार उसके वीडियो देखने की कोशिश की मगर हरबार पांच मिनट से ज्यादा झेल नहीं पाया। बाबा की फैंसी वेशभूषा, बात-बात पर ताली बजाना और तरह-तरह के खेल तमाशे तो जैसे-तैसे बर्दाश्त कर भी लेता था, मगर ज़हर [...]

2023-01-27T15:54:15+05:30January 27, 2023 3:54 pm|

महामानव से कुछ सीखो ऋषि सुनक

पता नहीं कैसी दुनिया है वो और पता नहीं कैसे लोग हैं। पुलिस ने प्रधानमंत्री का न केवल चालान कर दिया बल्कि पचास पाउंड का जुर्माना भी लगा दिया। वह भी इतनी सी बात पर कि प्रधानमंत्री ने चलती कार में पल भर को सीट बेल्ट हटा दी थी? हद [...]

2023-01-23T15:22:38+05:30January 23, 2023 3:22 pm|

गिद्धों से अटी खेल की दुनिया

पता नहीं ये नेता लोग सचमुच लंगोट के इतने कच्चे होते हैं या यूं ही इनपर यौन शोषण के आरोप आए दिन लगते रहते हैं। अब भाजपा सांसद बृज भूषण शरण सिंह और उनकी अध्यक्षता वाली भारतीय कुश्ती महासंघ के कोचों को ही देख लीजिए। हैरानी की बात यह है [...]

2023-01-20T15:28:00+05:30January 20, 2023 3:28 pm|

चल उड़ जा रे पंछी

बीती रात खाली बैठा हिसाब लगा रहा था कि मेरे कितने परिचितों के बच्चे विदेश में रह रहे हैं? लिस्ट देखकर खुद ही हैरानी हुई कि अरे! हमारी डाल छोडक़र इतने सारे पंछी उड़ गए? जान पहचान के हर चौथे पांचवें घर का कोई न कोई सदस्य विदेश जा बसा [...]

2023-01-16T14:55:25+05:30January 16, 2023 2:52 pm|

बात केवल इस्कॉन की नहीं है

मेरे कुछ मित्र अक्सर वृंदावन जाते हैं मगर बांके बिहारी के मन्दिर नहीं वरन इस्कॉन के कृष्ण बलराम मन्दिर के दर्शन करके ही लौट आते हैं। उनकी सलाह पर मैं भी दो-चार बार वहां हो आया हूं। भारतीय मंदिर और अमेरिकी संस्था के इस मन्दिर में अंतर साफ नजर आता [...]

2023-01-13T15:19:15+05:30January 13, 2023 3:19 pm|

पूस की रात पार्ट टू

सबसे पहले तो मुंशी प्रेमचंद की आत्मा से मुआफ़ी चाहूंगा कि उनकी चर्चित कहानी पूस की रात का शीर्षक इस्तेमाल किया। फिर उन लोगों की लानत मलानत करने की इच्छा है जो इस हाड़ कंपा देने वाली सर्दी में खुले आसमान के नीचे रात बिताने वालों के बाबत कहते हैं [...]

2023-01-09T15:20:27+05:30January 9, 2023 3:20 pm|

हिलती हुई बहू माने राहुल गांधी

पंजाबी की कहावत है कि आटा गुनदी हिल्दी क्यों हैं यानि आटा गूंथते समय हिलती क्यों है। बहू में अवगुण ढूंढने की सासों की यह महारत हमारे ही जिले में एक बार फिर नजऱ आई जब भारत जोड़ो यात्रा के उत्तर प्रदेश में स्वागत कार्यक्रम में बहन प्रियंका को राहुल [...]

2023-01-06T15:48:59+05:30January 6, 2023 3:48 pm|

इसकी टी शर्ट तो उसके नंगे पांव

देश बदल रहा है। अब जमीनी मुद्दे गौण हो चले हैं और उसका स्थान ले रहे हैं नेताओं के तौर तरीके और कपड़े। यकीनन आजादी के दौर से अब तक नेताओं की जीवन शैली सदैव चर्चाओं में रही है मगर फिर भी मुद्दे वही बनते थे जो जनता जनार्दन के [...]

2023-01-02T15:54:45+05:30January 2, 2023 3:54 pm|

सन्नाटे का सन्नाटा

लगभग दस साल पहले एक मित्र ने अलीगढ़ के अपने पैतृक गांव बरौली भीकमपुर ने मन्दिर बनवाया। बड़ा आयोजन था अत: मैं भी पहुंचा। आलू की सब्जी और कचौड़ी का भंडारा वहां चल रहा था। साथ में बेहद खट्टा रायता भी था। रायता क्या मिर्च का मजेदार सफेद घोल सा [...]

2022-12-30T15:56:39+05:30December 30, 2022 3:56 pm|

राम सेतु या हमारी अपरिपक्वता

यह एक बार फिर साबित हो गया है कि हम एक अपरिपक्व मुल्क हैं। पूरे मुल्क को अपरिपक्व कहने पर यदि आपको एतराज हो तो अपने दावे में संशोधन करते हुए मैं कहना चाहूंगा कि हमारे तमाम राजनीति दल और उसके नेता अपरिपक्व हैं। अब यदि आपको इस पर भी [...]

2022-12-27T15:28:21+05:30December 27, 2022 3:28 pm|
Go to Top