हाथरस हादसा
जेल से आने के बाद बन गया था बाबा
हाथरस (युग करवट)। हाथरस हादसे का मुख्य जिम्मेदार साकार विश्व हरि भोले बाबा का असली नाम सूरजपाल है जो कि उत्तर प्रदेश पुलिस में हेड कॉन्स्टेबिल की नौकरी करता था। 18 साल पहले इटावा एलआईयू में तैनात था बताते हैं कि बाबा किसी मामले में जेल भी जा चुका है और उसके बाद उसने नाम बदलकर फिर सत्संग करना शुरू कर दिया था। बताते हैं कि बाबा के सत्संग में हजारों की संख्या में भीड़ आती है और काफी संख्या में इनके अनुयायी है।
मेरे चरणों की धूल ले जाओ हो जाएगा कल्याण
हाथरस (युग करवट)। कल हुए हादसे के कई चश्मदीदों ने बताया कि जब सत्संग के समापन पर बाबा ने सभी से कहा था कि वो बहुत ही संभल कर जाएं, ध्यान से जाएं, लेकिन साथ में ये भी कहा था कि उनके चरणों की धूल जरूर ले जाएं ताकि जो भी समस्या होगी वो दूर हो जाएगी। इसी के चलते जब बाबा की गाड़ी निकली तो लोग चरणों की धूल लेने के लिए एक-दूसरे पर चढ़ गये और ये दुर्घटना हो गई।