प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 अगले महीने से शुरू होने जा रहा है। इसके लिए केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय की ओर से नई गाइड लाइन नगर निगम को जारी कर दी गई है। पहली बार सॉलिडवेस्ट मैनेजमेंट को भी सर्वेक्षण में शामिल किया गया है। इसका जायजा लेने के लिए अगले महीने गाजियाबाद नगर निगम में केंद्रीय टीम दौरा करने जा रही है। इससे पहले ओडीएफ प्लस प्लस पर सरकार का सबसे अधिक जोर होता था। ओडीएफ प्लस प्लास में सिटी सेचुरेटेड हो गया है। देश भर में इसी योजना के तहत कई करोड़ शौचालय बनाने का लक्ष्य पूरा हो गया है। हालांकि इस कंपोनेट को सरकार ने समाप्त नहीं किया है। अब सार्वजनिक शौचालय इस श्रेणी में डाला गया है। इसके साथ ही अब सॉलिडवेस्ट मैनेजमेंट यानि कूड़ा निस्तारण लेकर पॉलिसी का जायजा लिया जाएगा।
हाल ही में सॉलिडवेस्ट मैनेजमेंट एक्ट में बदलाव किया गया है। पहले 100 किलो या इससे अधिक जहां कूड़ा जनरेट करने वाले संस्थान को खुद ही कूड़े का निस्तारण करने का नियम था। अब इसे घटाकर केवल 50 किलो कर दिया गया है। साथ ही अब सर्वेक्षण के मानकों में ईजाफा होने के साथ ही अधिकतम अंक भी बढ़ाकर साढ़े सात हजार से 9500 कर दिए गए है।
नगर निगम के हेल्थ अफसर डॉ0 मिथलेश कुमार का कहना है कि अगले महीने स्वच्छ सर्वेक्षण का आगाज हो जाएगा। इसके लिए गाजियाबाद में टीम आएगी। इसके लिए नगर निगम अभी से ही तैयारी में जुटा हुआ है। साथ ही नगर निगम नए सॉलिडवेस्ट मैनेजमेंट एंट एक्ट के तहत सर्वे कराने में भी जुटा है। सर्वे रिपोर्ट जल्द फाइनल की जा रही है।