युग करवट संवाददाता
लखनऊ। प्रदेश के दिव्यांगजन सशक्तिकरण एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार नरेंद्र कश्यप ने विधानसभा स्थित नवीन भवन के अपने कार्यालय में विभागीय समीक्षा बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि दिव्यांगजनों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा संचालित की जा रही योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार जनपदों के साथ-साथ तहसील एवं ब्लाक स्तर पर भी किया जाय। समीक्षा बैठक में दिव्यांगजन अधिकारियों द्वारा बताया गया कि दिव्यांगजन पेंशन को आधार से लिंक कराने का कार्य 87 प्रतिशत पूर्ण हो गया है। पिछड़ा कल्याण मंत्री ने पिछड़ा वर्ग के अधिकारियों से कहा कि पिछड़ा वर्ग के लिए बने छात्रावासों का निरीक्षण कर उनका फिडबैक लिया जाय। उन्होंने पिछड़ा वर्ग के छात्रों को दी जा रही छात्रवृत्ति की समीक्षा की। जिसमें अधिकारियों द्वारा बताया गया कि इस वित्तीय वर्ष में लगभग 23 लाख छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति से लाभान्वित किया जायेगा। इसके अलावा विभागीय योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक पात्र व्यक्तियों को मिले ये सुनिश्चित किया जाय। मंत्री ने बताया कि विगत दिनों में यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2023 के अन्तर्गत मंत्री समूह एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चेन्नई गये थे। वहां पर विभिन्न कम्पनियों के प्रतिनिधियों से बैठक की गयी और लगभग ८ हजार करोड़ रूपए का निवेश की सहमति बनी। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में जनपद गाजियाबाद में इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन होने वाला है, जिसमें लगभग 8 हजार करोड़ रूपए का एमओयू पर हस्ताक्षर होंगे। बैठक में अपर मुख्य सचिव दिव्यांगजन सशक्तिकरण एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण हेमंत राव, तथा निदेशक पिछड़ा वर्ग कल्याण वंदना वर्मा, रजिस्टार डॉ. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय एवं आयुक्त दिव्यांगजन उपस्थित थे।