गाजियाबाद (युग करवट)। प्रमुख सचिव स्टांप वीना कुमारी द्वारा तहसील के अधिवक्ताओं को संगठित गिरोह कहे जाने पर अधिवक्ता बिफरे हुए हैं। विरोध में अधिवक्ता और बैनामा लेखकर लगातार आठ दिनों से हड़ताल पर हैं। सदर तहसील में रजिस्ट्री कार्यालय के चैनल बंद हैं। तहसील बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक कुमार वर्मा और सचिव विकास त्यागी ने बताया कि उत्तर प्रदेश शासन में प्रमुख स्टांप सचिव वीना कुमारी ने तुगलकी फरमान जारी कर अधिवक्ताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। शासन और प्रशासन के अडियल रूख से अधिवक्ताओं में भारी रोष है। आज धरनास्थल पर दस्तावेज लेखक एसाोसिएशन के अध्यक्ष संजीव कौशिक, सचिव गौरव चौधरी, वरिष्ठ बैनामा लेखक रामानंद गोयल, देवेन्द्र गोयल एडवोकेट, उपाध्यक्ष संजय कुमार यादव, सह सचिव सचिन कुमार शिशौदिया, कोषाध्यक्ष शोभित सिंह, सांस्कृतिक सचिव शौकेन्द्र कुमार चौहान मौजूद रहे।