प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। नगर निगम बोर्ड की बैठक 7 जनवरी को होगी। इसके लिए मेयर आशा शर्मा ने नगर आयुक्त को पत्र लिखा है। नगर निगम बोर्ड की यह बैठक महत्वपूर्ण मानी जा रही है। बोर्ड की बैठक ऐसे वक्त हो रही है जब नगर निकाय चुनाव को लेकर आरक्षण पर घमासान मचा है। हाईकोर्ट के फैसले को प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। सुप्रीम कोर्ट में इस पर अब जल्द सुनवाई होने जा रही है। गाजियाबाद नगर निगम के मौजूदा बोर्ड का कार्यकाल भी 23 जनवरी को समाप्त होने जा रहा है। इसके लिए पहले ही प्रदेश सरकार की ओर से निर्देश जारी कर दिए गए हैं। ऐसे में मौजूदा बोर्ड की सात नवंबर को होने वाली बैठक अंतिम बोर्ड बैठक होगी। इस बैठक में कई खास प्रस्ताव पेश किए जाने की संभावना है। बोर्ड की यह बैठक इसलिए भी खास है क्योंकि इस बैठक के बाद सभी पार्षदों की नगर निगम सदन से विदाई हो जाएगी। इसके बाद हो सकता है कि कुछ पार्षद दोबारा चुनाव जीत कर आएं, मगर कुछ ऐसे पार्षद होंगे जो शायद ही दोबारा जीत कर आएंगे।