नोएडा (युग करवट)। दिल्ली से चलकर गौतमबुद्ध नगर के रास्ते उत्तर प्रदेश व बिहार के विभिन्न जनपदों में जाने वाली बसों के अंदर आग बुझाने के उपकरण ठीक नहीं पाए गए। इसके लिए परिवहन विभाग ने एक विशेष अभियान चलाकर बसों की चेकिंग की तथा उनके चालान काटे। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में जांच अभियान के दौरान 40 फीसदी निजी बसों में अग्निशमन उपकरण अपडेट नहीं मिले। दिल्ली से शुरू होकर नोएडा-ग्रेटर नोएडा के रास्ते गोरखपुर, बस्ती, लखनऊ, वाराणसी समेत बिहार के तमाम शहरों के लिए चलने वाली निजी बसों की जांच के लिए परिवहन विभाग की प्रवर्तन टीम की ओर से अभियान चलाया जा रहा है। ऐआरटीओ प्रवर्तन दीपक कुमार शाह ने बताया कि अब तक 90 से अधिक बसों की जांच हो चुकी है। इनमें से 22 बसें जब्त हुई है। 40 से अधिक का चालान किया गया है। उन्होंने कहा कि जब्त और चालान की जद में आई लगभग 40 फीसदी बसों में अग्निशमन उपकरण अपडेट नहीं थे। ऐसे में अग्निहादसा होने पर यात्रियों की जान खतरे में पड़ सकती है। शासन के निर्देश पर चलाया जा रहा अभियान मंगलवार को समाप्त हुआ। वहीं राहुत पंवार नाम के एक ट्विटर यूजर ने निजी बस की छत पर बैठे यात्रियों का वीडियो ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि शनिवार सुबह का यह दृश्य यमुना एक्सप्रेसवे का है, जहां पर नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए पैसों के चक्कर में दूसरे की जान से खेला जा रहा हैं।