गाजियाबाद (युग करवट)। प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 शहीद स्मारक समिति द्वारा हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी शहीद स्थल मेट्रो स्टेशन के पास श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया। समिति के अध्यक्ष पंडित रामआसरे शर्मा ने बताया कि हिंडन नदी का ऐतिहासिक युद्ध 30 मई को हुआ था जब क्रांतिकारियों ने अंग्रेजो का घमंड चकनाचूर कर दिया था। यह युद्घ गाजियाबाद में हिंडन नदी के तट पर हुआ था। संस्था के मीडिया प्रभारी बीके शर्मा हनुमान ने बताया कि प्रथम स्वतंत्रता संग्राम भारतीय इतिहास का एक ऐसा दिव्य तथा भव्य अध्याय है, जिसमें धर्म, वर्ग, जातियों की सभी दीवारें ध्वस्त हो जाती हैं। उस वक्त की व्रतधारी पत्रकारिता ने भी आजादी के पहले समर में क्रांति का बीजारोपण किया। इस अवसर पर संस्था के महामंत्री पीएन गर्ग, वरिष्ठ समाज सेवी छोटेलाल कनौजिया, पीके रॉय, डॉक्टर ए खालिद, टिंकू सरकार, मिलन मंडल, विजय मलिक, सपन सिकदर, दिलीप कुमार, डॉक्टर एस के मिश्रा, डॉक्टर संजय सिंह, एसके सिरोही, अलोकचंद शर्मा, रोहित कुमार, पार्थो दास, विजय शर्मा, संजीव, मास्टर अनिल, डायरेक्टर संजीव कुमार, अरुण कुमार भूल्लन, अंशुल, बॉबी कुमार, मुन्ना सिंह, मनीष, संजय, भोला, अरुण खन्ना, संतोष, विजय शर्मा, राकेश शर्मा, मास्टर गजेंद्र, प्रदीप बॉस मौजूद थे