युग करवट ब्यूरो
लखनऊ। प्रदेश में हो रही अत्यधिक वर्षा से बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। प्रदेश के 17 जिलों के 944 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं। बाढ़ के कारण इन जिलों की 8.43 लाख जनसंख्या प्रभावित है। राहत आयुक्त कार्यालय के अनुसार गंगा नदी बदायूं, शारदा नदी लखीमपुर खीरी, सरयू बबई नदी बहराइच, घाघरा नदी बाराबंकी, अयोध्या व बलिया, राप्ती नदी श्रावस्ती, बलरामपुर व गोरखपुर, बूढ़ी राप्ती सिद्धार्थनगर, रोहिन नदी महाराजगंज और क्वानो गोंडा में खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अत्यधिक वर्षा से प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को पूरी तत्परता से राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ अधिकारी खुद क्षेत्र का भ्रमण कर आपदा से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचाएं। जनहानि तथा पशुहानि के प्रकरणों में पीडि़तों को अविलंब अनुमन्य सहायता राशि प्रदान की जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जिला प्रशासन की टीम सभी लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाए। साथ ही, उनके रहने और भोजन की समुचित व्यवस्था करे। भारी बरसात से हुए जलभराव की समस्या का तत्काल निस्तारण किया जाए।