युग करवट संवाददाता
नई दिल्ली। मोदी मंत्रिमंडल का बहुप्रतीक्षित विस्तार बुधवार शाम को संपन्न हुआ। राष्टï्रपति भवन के दरबार हॉल में कोरोना प्रोटोकॉल के तहत राष्टï्रपति रामनाथ कोविंद ने नए मंत्रियों को शपथ दिलाई। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह पहला विस्तार था। बुधवार को हुए विस्तार में कुल 43 मंत्रियों ने शपथ ली। इनमें से 15 ने कैबिनेट मंत्री और 2८ ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली। कई राज्य मंत्रियों को प्रमोशन देकर उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया। मंत्रिमंडल में कई नए चेहरों को भी शामिल किया गया है। वहीं कई दिग्गज चेहरों की छुट्टी भी कर दी गई है। मंत्रिमंडल में इस बार जहां युवाओं को प्रमुखता दी गई। साथ ही महिलाओं की भागीदारी भी बढ़ाई गई। इसके अलावा जातीय समीकरण को भी साधने की कोशिश की गई है।
नए मंत्रिमंडल की औसत आयु 58 वर्ष है। नए मंत्रियों में 13 वकील, 6 चिकित्सक, 5 इंजीनियर और 7 लोक सेवक शामिल है। नए मंत्रिमंडल में रिकॉर्ड 11 महिला मंत्री शामिल की गई है। नए मंत्रिमंडल में रिकॉर्ड 2८ ओबीसी मंत्री तो 5 अल्पसंख्यक मंत्री हैं। नए मंत्रिमंडल में 12 एससी मंत्री और रिकॉर्ड 8 एसटी मंत्री हैं।
मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार में अनुभव को भी तरजीह दी गई है। अब 46 मंत्री केंद्र सरकार में पूर्व अनुभव वाले है, 4 पूर्व मुख्यमंत्री हैं। जिन्होंने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली, उनमे महाराष्टï्र से नारायण राणे, असम से सर्वानंद सोनोवाल, मध्य प्रदेश से वीरेंद्र कुमार, मध्य प्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया, बिहार से आरसीपी सिंह, ओडि़सा से अश्विनी वैष्णव, बिहार से पशुपतिनाथ पारस, अरुणाचल प्रदेश से किरेन रिजुजू, बिहार से आरके सिंह, उत्तर प्रदेश से हरदीप सिंह पुरी, गुजरात से मनसुख मांडविया, राजस्थान से भूपेंद्र यादव, गुजरात से पुरषोत्तम रूपाला, तेलंगाना से जी किशन रेड्डी और हिमाचल प्रदेश से अनुराग ठाकुर शामिल है। जिन्होंने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली, उनमें उत्तर प्रदेश से पंकज चौधरी, उप्र से अनुप्रिया पटेल, उप्र से एसपी सिंह बघेल, कर्नाटक से राजीव चंद्रशेखर, कर्नाटक से शोभा करंदलजे, उप्र से भानु प्रताप वर्मा, गुजरात से दर्शना जरदोश, दिल्ली से मीनाक्षी लेखी, बिहार से अन्नपूर्णा देवी, तमिलनाडू से ए नारायणस्वामी, कौशल किशोर, उत्तराखंड से अजय भट्ट, उप्र से अजय कुमार, गुजरात से देवुसिंह चौहान, कर्नाटक से भगवंत खुबा, महाराष्टï्र से कपिल पाटिल, त्रिपुरा से प्रतिमा भौमिक, सुभाष सरकार, गुजरात से भगवत कराड, मणिपुर से राजकुमार रंजन सिंह, महाराष्टï्र से भारती पवार, ओडि़सा से विश्वेश्वर टुडू, पश्चिम बंगाल से शांतनु ठाकुर, गुजरात से डॉ. महेंद्र मुंजपरा, पश्चिम बंगाल से जॉन बारला, तमिलनाडू से एल मुरुगन और पश्चिम बंगाल से निशीथ प्रामाणिक शामिल हैं।