पहले चरण में यूपी की आठ सीटो पर भाजपा की अग्निपरीक्षा
गाजियाबाद (युग करवट)। लोकसभा चुनाव-2024 के पहले चरण की 102 सीटों पर शुक्रवार को मतदान होगा। पहले चरण में तमिलनाडू की सभी 39 सीटों के अलावा राजस्थान की 12, असम की पांच, मध्य प्रदेश की छह, महाराष्टï्र की पांच, बिहार की चार सीटों के अलावा उत्तर प्रदेश की 8 सीटों पर मतदान होगा। उत्तर प्रदेश की जिन आठ सीटों पर मतदान होगा, उनमें सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, नगीना, मुरादाबाद और रामपुर और पीलीभीत शामिल है।
जहां तक यूपी की आठ सीटों की बात है, तो ये सभी सीटें पश्चिम उत्तर प्रदेश की है। पहले दौर में हो रहे मतदान में वो सीटें हैं, जहां भाजपा की अग्नि परीक्षा होनी है। 2019 के लोकसभा चुनाव में इन आठ सीटों में से पांच-सहारनपुर, नगीना, बिजनौर, रामपुर और मुरादाबाद पर भाजपा की हार हुई थी। तीन सीटें बसपा के खाते में गई थी तो दो सीटें- रामपुर और मुरादाबाद सपा के खाते में। भाजपा को सिर्फ तीन सीटें-कैराना, मुजफ्फरनगर और पीलीभीत की मिली थी। हालांकि बाद में हुए उप चुनाव में भाजपा ने रामपुर की सीट अपनी झोली में कर ली थी। पश्चिम उत्तर प्रदेश की इन आठ सीटों में इस बार तस्वीर पूरी बदल गई है। कल केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान, यूपी में मंत्री जितिन प्रसाद, चंदन चौहान, इकरा हसन, इमरान मसूद, चन्द्रशेखर रावण सहित कई दिग्गजों का फैसला होगा।
2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा अकेली मैदान में थी लेकिन इस बार भाजपा के साथ राष्टï्रीय लोकदल है। ऐसे में जाट बाहुल्य सीटों पर हार-जीत का समीकरण बदल सकता है। इन आठ में से चार सीटें ऐसी है, जिन्हें अपनी झोली में करने के लिए भाजपा ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह से लेकर भाजपा के कई बड़े नेताओं की जनसभाएं आयोजित की गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इन सीटों पर दो-दो सभाएं कर चुके हैं। बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं को बांधे रखने के लिए भाजपा ने क्लस्टर यूनिट बनाई है। साथ ही हर विधानसभा क्षेत्र में कार्यकर्ता बूथ सम्मेलन आयोजित कर बूथों पर साठ प्रतिशत वोट के अपने लक्ष्य को पूरा करने में जी-जान लगा दी है। शेष पृष्ठ पांच पर…