५० हजार के ईनामी जुबेर को क्राइम ब्रांच ने धर दबोचा
प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद(युग करवट)। एडीसीपी क्राइम सच्चिदानन्द बर्नवाल की अगुवाई में सीपी अजय कुमार मिश्रा की स्वॉट टीम प्रभारी अब्दुल रहमान सिदï्दीकी की टीम को एक और बड़ी सफलता उस समय मिल गई कि जब उन्होंने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर मुखबिर की सूचना के बाद यूपी, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात व तमिलनाडु के सहित आधा दर्जन से अधिक सूबों में मात्र आठ माह के अंदर हजारों मोबाइल टॉवर को निशाना बनाकर वहां से करोड़ों की कीमत की आरआर यूनिट जैसे महंगे उपकरण चुराने वाले ५० हजार के ईनामी बदमाश जुबेर पुत्र असलम निवासी आलमगीरपुर रोहटा मेरठ को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गये बदमाश के पास से कई आर-आर यूनिट समेत लगभग दस लाख का माल बरामद हुआ। सूत्रों के अनुसार पूछताछ के दौरान पचास हजार के ईनामी बदमाश जुबेर ने पुलिस को बताया कि वह मोबाइल टॉवर को निशाना बनाकर खरबपति बन चुके गैग लीडर जावेद के भाई का साला है। उसने बताया कि चोरी करने के लिये वह जहां प्लेन में यात्रा करता है वहीं वहां पर स्थित कई-कई मोबाइल टॉवर से चुराई गई आरआर यूनिटों का पार्सल बनवाकर उसे भी हवाई जहाज से ही अपने ठिकाने पर भेजता रहा है। जुबेर ने बताया कि उसने अपने जीजा के कहने पर गत वर्ष अक्तुबर से अपराध जगत में कदम रखा था। उसके बाद उसने हर दूसरे दिन कम से कम चार-पांच मोबाइल टॉवर को निशाना बनाते हुए वहां से आरआर यूनिट व महंगे उपकरण चुराकर उन्हें ठिकाने लगा दिया। पुलिस के मुताबिक जुबेर अब तक उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश व तमिलनाडु समेत आधा दर्जन से अधिक सूबों में जाकर वहां पर हजारों मोबाइल टॉवर को निशाना बनाते हुए करोड़ों की कीमत की आरआर यूनिट व महंगे उपकरण चुरा चुका है। पुलिस के मुताबिक क्राइम ब्रांच अब तक दुबई में बैठे गैंग लीडर जावेद गिरोह के ५०-५० हजार के चार बदमाशों के सहित दो दर्जन से अधिक बदमाशों को दबोचकर जेल भेज चुकी है। ५०-५० हजार के ईनामी जिन बदमाशों को क्राइम ब्रांच के प्रभारी अब्दुल रहमान सिदï्दीकी की टीम ने जेल भेजा है उनके नाम वसीम, अल्ताफ, आसिफ उर्फ आरिफ व जुबेर हैं।