नगर संवाददाता
गाजियाबाद(युग करवट)। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते शासन के पोर्टल पर सहीं रिपोर्ट दर्ज नहीं हो पा रही हैंं। आंकड़ों में हो रहे इस गड़बड़ झाले के चलते जिला प्रदेश में पिछड़ रहा है, जबकि जिले में संस्थागत प्रसवों की संख्या अच्छी खासी है। विभाग की इस लापरवाही पर डीएम आरके सिंह ने कड़ी नाराजगी जताई, उन्होंने बीस केन्द्रों से स्पष्टïीकरण मांगते हुए पोर्टल को अपडेट किए जाने के निर्देश दिए हैं।
बता दें कि सरकारी अस्पतालों व स्वास्थ्य केन्द्रों में होने वाले प्रसव के उपरांत उसे शासन के आरसीएच पोर्टल अनमोल पर अपडेट किया जाता है। इसी के आधार पर प्रसव बाद महिलाओं को मानदेय दिया जाता है, जिससे जच्चा-बच्चा दोनों सही रहें। लेकिन, शहरी क्षेत्र के स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रसव तो हो रहे हैं, मगर उन्हें पूरी तरह से सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। यहां तक की प्रसव होने के उपरांत उन्हें आरसीएच पोर्टल पर अपडेट भी नहीं किया जाता। इसकी वजह से शासन स्तर पर जब मॉनीटिरिंग की जाती है, तो उसमें जिला पिछड़ा हुआ नजर आता है।
२5 स्वास्थ्य केन्द्र ऐसे हैं, जो वित्तीय वर्ष में ५० फीसदी भी प्रसव नहीं करा सकें हैं। यह हम नहीं बल्कि विभागीय पोर्टल गवाही दे रहा है, जबकि विभागीय अधिकारी यह दावे करते नहीं थकते कि प्रदेश में उनके यहां सबसे अधिक प्रसव हो रहे हैं। लेकिन, अधिकारियों की इस मेहनत को लापरवाह कर्मचारी पलीता लगा रहे हैं। डीएम ने पोर्टल में डाटा अपडेट को लेकर हो रही लापरवाही पर संज्ञान लेते हुए सभी को नोटिस जारी किया हैं और चिकित्सा प्रभारियों को कड़ी फटकार के साथ ही जल्द से जल्द पोर्टल अपडेट करने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद भी अगर पोर्टल अपडेट नहीं किया तो उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

ब्लॉक प्रसव हुए रजिस्टर्ड फीसदी
बुधविहार विजयनगर ९२८ ३८७ ४२
घूकना १४१९ ३६३ २६
हरसांव १४१९ ३८६ २७
कैला भट्टा १६३८ ६५५ ४०
कार्टे १३९२ ६०४ ४३
न्यू डिफेंस कॉलोनी १२०१ ५७४ ४८
साहिबाबाद १४२२ ६११ ४३
सरस्वती कॉलोनी सा. १६३८ ८१० ४९
एसएलएफ वेद विहार १९०६ २१९ ११
तिलकराम कॉलोनी लोनी २०२३ ८४२ ४२
अर्थला ९८३ ३०८ ३१
भूपेन्द्रपुरी १७१० ८०१ ४७
दौलतपुरा ९५६ १०१ ११
कडक़ड़ मॉडल १२०१ ४२१ ३५
कनावनी गांव १८५६ २९१ १६
खैरियतनगर ९२८ २४१ २६
लाल बाग लोनी १६१३ ३२५ २०
राहुल गार्डन १६३७ ४३५ २७
राजीव गार्डन १५१९ ५५७ ३७
संतोष विहार १५१९ ६९६ ४६
शिवपुरी ११९४ ४२२ ३५
विजयनगर १६३८ २२७ १४
विजयनगर प्रथम ९८४ ४४८ ४६