प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद(युग कवरट)। कल स्कूल से घर आने के बाद रहस्यमय हालात में लापता हुई हनी नामक ५ वर्षीय बच्ची को कमिश्नरेट पुलिस की पूरी फौज उसके अपहरण होने के २४ घंटे बाद भी नहीं बरामद कर पाई है। बरामद करना तो दूर पुलिस तो अभी तक यह भी पता नहीं लगा पाई है कि वह अबोध कहां और किस हालत में है। पुलिस सूत्रों की माने तो कल दोपहर बाद यानि उस समय से जब बच्ची लापता अथवा अगवा हुई, तब से लेकर आज समाचार लिखे जाने तक एडीसीपी व एसीपी स्तर के आधा दर्जन से अधिक अधिकारी और १०० से अधिक निरीक्षक/उप-निरीक्षक/जवान सिटी फॉरेस्ट में चप्पे-चप्पे की खाक छानने के अलावा कई वर्ग किलोमीटर में सर्च कर चुके थे। न्यू करहैड़ा निवासी रामजी की पांच वर्षीय पुत्री के लापता होने के पीछे का रहस्य जानने के लिये अधिकारियों से लेकर साहिबाबाद थाना पुलिस, क्राइम ब्रांच, डॉग स्क्वॉड एवं फॉरेंसिक टीम ने भी सैकड़ों सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने के साथ-साथ वैज्ञानिक तरीके से भी जांच की। इतनी भागदौड़ एवं माथापच्ची के बाद भी बच्ची को बरामद करने का नतीजा शून्य रहा। इस संदर्भ में एडीसीपी ज्ञानेंद्र सिंह का कहना है कि लापता/अपहृत बच्ची हनी की बरामदगी के लिये कई तरह के प्रयास युद्घ स्तर पर किये जा रहे हैं। खबर लिखे जाने तक कई संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पुलिस ने उनसे पूछताछ भी शुरू कर दी थी।