प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। मुरादनगर से लोनी या दिल्ली जाने वाले हल्के वाहनों के लिए अब मुरादनगर से टीला मोड़ तक पाइप लाइन रोड की टूटी सडक़ का निर्माण दिया गया है। करीब १९ करोड़ रुपये खर्च कर अब इसे दो लेन कर दिया गया है। यह रोड पहले केवल साढ़े पांच मीटर चौड़ी थी।
सडक़ के आस-पास बसे गांव के लोग इसे प्रयोग करते हैं। इसे लेकर कई बार स्थानीय किसानों ने डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया था। उनका कहना था कि जब कोई टै्रक्टर आदि वहां से सामान लेकर जाता है तो बगल में इतनी भी जगह नहीं बचती है कि दूसरा वाहन निकल सके। इस तरह की तमाम समस्याओं को दूर करने के लिए डीएम आरके सिंह की ओर से एक पत्र जल निगम को लिखा गया था। जल निगम ही इस सडक़ का रखरखाव करता है। जल निगम ने इसके लिए दिल्ली जल बोर्ड से पैसे की मांग की थी। दिल्ली जल बोर्ड ने इस सडक़ के चौड़ीकरण करने और नए सिरे से बनाने के लिए १९ करोड़ रुपये की मांग की थी। जल निगम का कहना है कि दिसंबर महीने तक इस सडक़ को बनाने का कार्य पूरा करने का टारगेट दिया गया था।
मुरादनगर से टीला मोड़ लोनी रोड तक इस सडक़ को करीब १९ किलोमीटर तक बनाने का कार्य पूरा कर दिया गया है। इसके आगे दिल्ली के बॉर्डर तक इस सडक़ को ठीक करने का कार्य इसी महीने पूरा हो जाएगा। इस सडक़ के बन जाने से अब मुरादनगर से दिल्ली या लोनी जाने वाले वाहन चालकों को गाजियाबाद का चक्कर काटने की जरूरत नहीं है। वे अब मुरादनगर से ही पाइप लाइन रोड पर चढक़र कुछ ही मिनटों में लोनी या दिल्ली पहुंच सकते हैं।