युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। देश भर में डॉक्टर्स पर हो रही हिंसा के विरोध में इंडिया मेडिकल एसोसिएशन की केंद्रीय कार्यकारिणी के आह्वïान पर १८ जून को देशव्यापी विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। आज का दिन आईएमए ने डिमांड डे के रूप में मनाया और ‘योद्घाओं की रक्षा करोÓ नारा दिया
आईएमए गाजियाबाद के अध्यक्ष आशीष अग्रवाल ने बताया कि पिछले दो सप्ताह में असम, बिहार, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, यूपी कर्नाटक सहित कई जगहों पर डॉक्टर्स पर हमले किए गए हैं। महिला डॉक्टर्स के साथ भी मारपीट की घटना को अंजाम दिया गया। इन घटनाओं में घायल कई डॉक्टर्स गंभीर हालत में हैं। कोरोना के दौर में डॉक्टर्स अपनी जान दांव पर लगाकर लोगों को बचाने में जुटे हुए हैं। इस महामारी में अब तक ७२४ डॉक्टर अपनी जान गवां चुके हैं और सैंकड़ों संक्रमित हो चुके हैं। इसके बाद भी डॉक्टर्स के खिलाफ हिंसा की घटना होना शर्मनाक है। आईएमए सचिव डॉ.वानी पुरी ने कहा कि इन घटनाओं के विरोध में १८ जून को देश भर में विरोध प्रदर्शन दिवस मनाया जाएगा जिसमें आईएमए गाजियाबाद भी शामिल होगा।
आईएमए ने डिमांड डे पर देश के प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और संबंधित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों को सुरक्षा मुहैया कराने, अस्पताल और हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स सुरक्षा अधिनियम में आईपीसी की धारा और आपराधिक गतिविधि संहिता शामिल करने की मांग, हर अस्पताल में सुरक्षा के मानक बढ़ाने, अस्पतालों को सुरक्षित क्षेत्र घोषित करने, दोषियों के खिलाफ फास्ट ट्रेक कोर्ट में सुनवाई कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग रखी है। विरोध प्रदर्शन काली पट्टी, काले मास्क, झंडे लेकर अपने कार्यस्थलों, आईएमए भवन और प्रमुख अस्पतालों में मनाया जाएगा। आईएमए ने कहा कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जातीं, आंदोलन जारी रहेगा।