युग करवट संवाददाता
हापुड़। यूं तो पंचायतों में तुगलकी फरमान आते रहते हैं। पंचायतों के फैसलों की खूब आलोचना भी होती है। मगर बात अगर भाजपा जिलाध्यक्ष से जुड़ी हो तो यह और भी गंभीर मामला हो जाता है। भाजपा जिला अध्यक्ष के पिता से हुई बदसलूकी के मामले में बुलाई गई पंचायत में आरोपी को जूते से पिटाई करने का फरमान सुना दिया। पंचायत के फैसले के बाद आरोप को सभी के सामने जूतों से पीटा गया। वहीं गांव वालों का कहना है कि भाजपा जिलाध्यक्ष ने इससे पहले आरोपी को पुलिस से भी प्रताडि़त किया था।
भाजपा जिलाध्यक्ष के पिता के साथ बदसलूकी करने को लेकर एक पंचायत बुलाई गई थी। पंचायत में पंचों ने पिता के पैरों में पगड़ी रखने एवं सर पर जूते मारने की सुना दी। यह सब कुछ भाजपा जिला अध्यक्ष की मौजूदगी में चलता रहा। पंचायत में मौजूद किसी व्यक्ति ने वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जिसके बाद भाजपा नेताओं में खलबली मच गई।
भाजपा जिला अध्यक्ष उमेश राणा के पिता कमल सिंह दादरी से अपने गांव शिवाया रहे है। रास्ते में मामूली किसी बात को लेकर गांव के कुछ व्यक्तियों से कहासुनी हो गई। जिला अध्यक्ष उमेश राणा को जानकारी मिली तो वे आग बबूला हो गए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से उक्त लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा। पुलिस ने एक आरोपी की गाड़ी को भी कब्जे में लिया था।
वही उमेश राणा ने ऐलान कर दिया कि मामले में जिला अध्यक्ष ने ऐलान कर दिया कि जब तक यह लोग घर पर आकर भरी पंचायत में माफी नहीं मांगेंगे तब तक उनके खिलाफ कोई समझौता नहीं होगा। जिला अध्यक्ष के घर पर पंचायत बुलाई गई जिसमें गांव के प्रबुद्ध लोग सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे। वही आरोपी विनोद पंचायत में पहुंचे और उन्होंने सबके सामने हाथ जोड़कर माफी मांगी तभी वहां बैठे एक बुजुर्ग ने इशारा पाते ही विनोद पर जूतों की बौछार कर दी। आरोपी विनोद ने अपना सिर पर रखा गमछा भी उतार कर उमेश राणा के पिता कमल सिंह के पैरों में रख दिया और माफी मांगी। पंचायत में मौजूद किसी ने वीडियो बना लिया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वीडियो करीब 1 माह पूर्व का बताया जा रहा है। इस मामले पर थानाध्यक्ष का कहना है कि यह घटना उनके कार्यकाल की नहीं है। ना ही घटना के बारे में उनको जानकारी है।