चंडीगढ़ (युग करवट)। हरियाणा के नए मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी आज फ्लोर टेस्ट कर रहे हैं। उनका दावा है कि उनके पास ४८ विधायकों का समर्थन है। उन्होनें विशेष सत्र में विश्वास प्रस्ताव पेश किया। जिस पर सभा पति ने विपक्ष और सत्ता पक्ष को एक एक घंटे का समय बोलने के लिए दिया। इस दौरान विधायको की खरीद जैसे शब्द इस्तेमाल करने पर नयनपाल रावत ने आपत्ती जताई। जिसके बाद शर्मा ने अपने शब्द वापस ले लिए। इस बात पर सदन में विपक्ष के विधायक खड़े हो गए और उसके बाद सदन में काफी हंगामे का माहौल बना रहा। मंत्री कंवरपाल गुर्जर बोले पूरा हरियाणा जानता है इस बात में क्या संदेह है। भूपेन्द्र हुड्डा खडे हुए बोले ,लोग जानते हैं मैं बोलकर पोल खोलूं अभी बीच में किसी तरह स्पीकर ने मामला शांत कराया। नायब सिंह सैनी को मुख्यमंत्री बनाने की खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका याचिका डाली गई है। जिसमें सैनी पर आरोप है कि नियुक्ति नियमो के खिलाफ हुई है।

वर्तमान में हरियाणा विधानसभा के 90 सदस्य हैं अगर मुख्यमंत्री सदन में उपस्थित होते हैं तो संख्या 91 हो जाती है। हाई कोर्ट से आग्रह किया गया कि सैनी की नियुक्ति को रद्द किया जाए।