युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। स्वॉट टीम ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो फर्जी क्राइम ब्रांच अधिकारी बनकर अवैध व अपैतिक कार्य करने वाले लोगों से उन्हें जेल जाने से बचाने और उनसे गोरखधंधा चलाने के नाम पर उनसे मोटी रकम वसूलता था। सूत्रों के मुताबिक स्वॉट टीम को उस समय सफलता हाथ लगी जब इस गैंग के सरगना व उसके साथी ने अवैध रूप से चलाए जा रहे पटाखा बनाने के कारखानें के संचालक से जेल ना भेजने व कारखाना बादस्तूर चलाते रहने के नाम पर ८ लाख की रकम ऐंठ ली। सूत्रों का यह भी कहना है कि क्राइम ब्रांच को उस समय सफलता मिली जब स्वॉट टीम ने एक सूचना के आधार पर अवैध रूप से चल रही पटाखा कंपनी के संचालक से पूछताछ की। स्वॉट टीम ने जिन दो फर्जी क्राइम ब्रांच के अधिकारियों को गिरफ्तार किया है उनके नाम नवीन चतुर्वेदी उर्फ बोबी पंडित व हेमंत कुमार हैं। पुलिस सूत्रों का यह भी कहना है कि इस गैंग का सरगना नवीन चतुर्वेदी उर्फ बोबी पंडित है। यह गैंग पिछले काफी समय से फर्जी क्राइम ब्रांच अधिकारी बनकर लोगों से मोटी रकम ऐंठ रहा था। समचार लिखे जाने तक क्राइम ब्रांच की एसपी दीक्षा शर्मा दोनों फर्जी क्राइम अफसरों से पूछताछ कर रही थी।
सूत्रों की माने तो स्वॉट टीम ने जिन दो फर्जी क्राइम ब्रांच अधिकारियों को अवैध रूप से वसूली गई मोटी रकम के साथ दबोचा है उसका सरगना बोबी पंडित मीडिया जगत से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है। इस संदर्भ में पुलिस अधिकारी का कहना है मीडिया से जुड़ा होने की वजह से ही नवीन चतुर्वेदी को पुलिस की कार्यप्रणाली व अपैनिक कार्य करने वाले व्यक्तियों की अच्छी जानकारी है। इसका फायदा उठाते हुए उसने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर फर्जी क्राइम ब्रांच का चोला ओढक़र अवैध वसूली जैसे अपराध करने शुरू कर दिये।