युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत लोहिया नगर स्थित हिंदी भवन में स्वतंत्रता सेनानी दुर्गा भाभी की याद में श्रद्धांजलि समारोह का आयोजन किया गया।
समारोह में दुर्गा भाभी के भतीजे जगदीश भट्ट मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। अतिथियों ने दुर्गा भाभी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की और उनके जीवन से जुड़े चित्रों की प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। इस दौरान उन पर लिखी किताबों का स्टॉल भी लगाया गया। समारोह में दुर्गा भाभी के परिजनों को शॉल ओढ़ाकर व उनकी प्रतिमा भेंट कर सम्मान किया गया। इस मौके पर गायिका संगीता ने ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ की प्रस्तुति दे, सभी की आंखे नम कर दीं। इसके उपरांत अक्षयवरनाथ श्रीवास्तव द्वारा निर्देशित ‘आजादी की दीवानी दुर्गा भाभी’ की नाट्य प्रस्तुति दी गई। जगदीश भट्ट ने दुर्गा भाभी की जिंदगी के खट्टे मीठे पलों को याद करते हुए कहां की दुर्गा भाभी का जनपद गाजियाबाद से विशेष लगाव रहा है।
वहीं डीएम आरके सिंह ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों से हम सभी परिचित है। उनको लेकर जब भी कोई कार्यक्रम किया जाता है, उसके पीछे मुख्य उद्देश्य होता है कि उनके आर्दशों, विचारों को ले करके स्वतंत्रता सेनानियों को याद रखा जा सके। डीएम ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों के सिद्धांतों को साथ लेकर चलना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है। हिंदी भवन समिति के अध्यक्ष ललित जायसवाल ने नाटक के निर्देशक को १२५००० सहयोग राशि का चेक भेंट किया।
अंत में सीडीओ विक्रमादित्य सिंह मलिक ने सभी का आभार व्यक्त किया, मंच संचालन पूनम शर्मा ने किया। नाटक के लिए लिए लिखे गए मधुर और परिस्थितिजन्य गीतों के लिए चेतन आनंद और शोधपरक सामग्री व संसाधन जुटाने में सहायक रहे। जगदीश भट्ट, डॉ. माला कपूर, डॉ. ईशा शर्मा, शिव वर्मा, आलोक यात्री, नरसिंह अरोड़ा, कुलदीप, रोजी श्रीवास्तव, अदित श्रीवास्तव, डॉ. दानिश इकबाल, राघव प्रकाश, हरि सिंह खोलिया, ऋषभ यादव, अक्षित गुप्ता, लक्ष्य राजपूत, सरू वर्मा, अर्चित वर्मा आदि का भी विशेष योगदान रहा।