ग्रेटर नोएडा (युग करवट)। ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के गांव कनारसी में जन्मे क्रांतिकारी एवं स्वतंत्रता सेनानी स्वर्गीय चंदू सिंह नागर के गांव में उनके नाम से गांव का मुख्य द्वार लाइब्रेरी एवं शिलापट्ट लगाने की मांग को लेकर करप्शन फ्री इंडिया संगठन के सदस्यों ने मास्टर दिनेश नगर के नेतृत्व में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अपर मुख्य कार्यपालक आशुतोष द्विवेदी को एक ज्ञापन पत्र सौंपा हैं।
संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि ग्रेटर नोएडा के कनारसी गांव निवासी क्रांतिकारी एवं स्वतंत्रता सेनानी स्वर्गीय चंदू सिंह नागर ने स्वतंत्रता संग्राम में ब्रिटिश सरकार के खिलाफ लड़ाई लड़ी। स्वतंत्रता सेनानी चंदू सिंह नागर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के साथ माल्या सिंगापुर एवं वर्मा आदि देशों की जेलों में लगभग 12 वर्ष तक कैद रहे। परिवार एवं ग्रामीणों ने तो चंदू सिंह नागर से लंबे समय तक संपर्क नहीं होने की वजह से देश की आजादी में शहीद मान लिया था। लेकिन वह 12 वर्ष बाद जेल की कैद काटकर वापस लौटे। स्वतंत्रता सेनानी के पोते रोहतास नागर ने बताया कि हमारी दादी एवं स्वतंत्रता सेनानी की धर्मपत्नी विद्या देवी अभी हमारे बीच जीवित हैं। इस मामले में आज संगठन ने प्राधिकरण एवं जनप्रतिनिधियों से मांग की है कि उनके पैतृक गांव कनारसी का मुख्य द्वार गांव में लाइब्रेरी एवं शिलापट्ट का निर्माण किया जाए। इस दौरान चौधरी प्रवीण भारतीय, मास्टर दिनेश नागर, गौरव भाटी, राकेश नागर, रोहतास नागर, सुभाष नेता सहित अन्य लोग मौजूद रहे।