प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। हाईस्पीड ट्रेन के प्रोजेक्ट के आसपास जमीन की प्राइम लोकेशन के हिसाब से इसे विशेष इकॉनोमिक जोन बनाने का प्रस्ताव जीडीए बोर्ड की बैठक में पेश कर सकता है। इसके लिए जीडीए का नियोजन विभाग पूरी बारीकी से प्लान को तैयार करने में लगा हुआ है। माना जा रहा है कि जल्दी ही प्लान तैयार कर जीडीए बोर्ड की बैठक में इस प्लान को विचार के लिए रख सकता है।
हाईस्पीड ट्रेन के प्रॉजैक्ट पर करीब 32 हजार करोड़ रुपये खर्च हो रहा है। जीडीए को लगता है कि जहां से होकर यह कोरिडोर गुजरेगा वहां इकॉनोमिक जोन का नया एरिया विकसित होगा। वहां जमीन की कीमत बढ़ेगी। इसी को देखते हुए कई वर्ष पहले जीडीए ने इस कोरिडोर के आसपास ओरिएंटल डिवेलपमेंट जोन बनाने का प्लान तैयार किया था।
प्लान पर कार्य करने के लिए जीडीए काफी समय से कोशिश कर रहा है। अब इस कार्य को लेकर और स्पीड पकड़ी है। जीडीए के वीसी आरके सिंह ने नियोजन विभाग को इसके लिए निर्देश जारी किए है। नियोजन विभाग की कोशिश है कि इस कोरिडोर के आसपास के एक निश्चित दूरी के एरिया की जमीन को ओरिएंडटल डिवेलपमेंट जोन में शामिल कर वहां मिक्स लैंडयूज तैयार किया जाए।
इसका जीडीए को भी फायदा होगा और आसपास में रहने वाले लोगों को भी इसका लाभ होगा। साथ ही इस कोरिडोर का सबसे अधिक फायदा व्यवसाय को होगा। यहीं कारण है कि जीडीए इस ओरिएंडटल डिवेलपमेंट जोन को बड़े ही स्मार्ट तरीके से बनाने की कोशिश में लगा है। जीडीए वीसी आरके सिंह की कोशिश है कि यह प्लान जल्द तैयार हो। माना जा रहा है कि जल्दी ही इसे तैयार कर जीडीए बोर्ड की बैठक में पेश किया जाएगा। इस पर बोर्ड की मंजूरी मिलने के बाद काम आगे बढ़ेगा। जीडीए को उम्मीद है कि इससे उसकी कई सौ करोड़ रुपये की अतिरिक्त इनकम होगी।