प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। नगर आयुक्त डॉ0 नितिन गौड़ अब अपने निरीक्षण का स्टाइल बदलने जा रहे है। अभी तक वह औचक निरीक्षण के दौरान स्वयं ही वर्क का जायजा लेने के लिए पहुंच जाते थे। मगर अब सभी संबंधित अधिकारियों को साथ लेकर निरीक्षण करेंगे। इसके कई फायदें होंगे। पहला यह है कि मौके पर संबंधित विभाग के अधिकारियों को भी हकीकत का पता रहेगा। साथ ही वह एक्शन भी ले सकेंंगे। अभी नगर आयुक्त पहले जहां निरीक्षण करते है। बाद में वह निरीक्षण आख्या संबंधित विभाग को प्ररेसित करते है। ताकी मौके पर जो स्थिति है उसका पता विभागाध्यक्षों को पता रहे। इससे पहले जो भी नगर आयुक्त गाजियाबाद नगर निगम में तैनात रहे उन सभी अधिकारियों स्टाइल संयुक्त निरीक्षण का रहा है। यही कारण है कि शहर में विकास कार्य तेजी के साथ हुए है। हालांकि अब बदली परिस्थितियां है। निगम के पास पैसे की किल्लत है। इस वजह से ठेकेदार भी काम की स्पीड कम बनाकर रख रहे हैं। इन सब के बावूजद नगर आयुक्त डॉ0 नितिन गौड़ की कोशिश है कि निर्धारित टारगेट के हिसाब से शहर में विकास कार्य हो। इसी के चलते अब नगर आयुक्त भी सभी विभागों के साथ समन्वय बनाकर कार्य करेंगे। इसके लिए सभी विभागो को आपस में समन्वय बनाने के लिए कहा है।