नई दिल्ली (युग करवट)। कनीना क्षेत्र के गांव उन्हाणी स्थित महिला कॉलेज के पास बृहस्पतिवार सुबह एक स्कूल के बस चालक चलती बस से कूद गया और बस एक पेड़ से टकराकर पलट गई। दुर्घटना इतनी भयंकर थी कि बस पलटते ही स्कूली बच्चे बस के शीशों में से बाहर निकल कर गिर गए। इस घटना में एक छात्र की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि आठ की मौत हो गई है। बस में कुल 45 बच्चे थे और 37 घायल हैं। जीएल पब्लिक स्कूल कनीना की यह स्कूल बस सेहलंग, झाड़ली, धनौंदा, से कनीना की ओर बच्चों को लेकर आ रहे थे। ईद की छुट्टी होने के बावजूद भी छुट्टी नहीं की गई थी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार चालक बस से कूद गया। इसके बाद बस का पिछला हिस्सा पेड़ से टकरा गया।

इस कारण बस पलट गई। बस की गति तेज होने की वजह से कुछ बच्चे शीशे तोड़ते हुए बाहर निकल कर गिए गए। करीब दस बच्चों की हालत गंभीर है और सभी 45 बच्चे घायल हैं। इनको तुरंत कनीना लाया गया। यहां से कुछ नारनौल, पीजीआइएमएस रोहतक और रेवाड़ी रेफर कर दिए गए। एक बच्चे छितरौली के बच्चे की मौत मौके पर ही हो गई है। पुलिस को वैन को उठाकर पुलिस थाने में ले आई। चालक अभी तक फरार है।
घायलों का हाल जानने के लिए विधायक सीताराम यादव, पूर्व डिप्टी स्पीकर संतोष यादव और सीएमओ डा. रमेश आर्य भी अस्पताल में पहुंचे हैं। इस पर यहां पर मौजूद लोगों ने जाम लगाकर हंगामा करना शुरू दिया। लोगों ने स्कूल संचालकों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की है।