युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। मुरादनगर रावली स्थित सेंट फ्रॉसिंस स्कूल के छात्रों व अभिभावकों ने प्रबंधन पर आरोप लगाया है कि फर्जी तरीके से बिना मान्यता के एडमिशन कराकर छात्रों का भविष्य अंधकार में डाल दिया है। अभिभावकों ने छात्रों के साथ मिलकर डीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर मामले की जांच की मांग की। अभिभावकों ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण बोर्ड परीक्षा, २०२१ कैंसिल करनी पड़ी। प्री-बोर्ड एग्जाम व पिछली कक्षाओं के प्रदर्शन के आधार पर सीबीएसई ने अंक देने का निर्णय लिया है। लेकिन स्कूल ने सीबीएसई गाइडलाइन का पालन ना करते हुए छात्रों को कम अंक दिए जिससे वह फेल हो गए। स्क्ूल के पास १०-१२वीं की मान्यता नहीं थी लेकिन स्कूल ने अभिभावकों को अंधेरे में रखते हुए कक्षाएं चलाईं और फीस भी वसूल की। अब अभिभावकों ने इस मामले में डीएम को ज्ञापन सौंपकर स्कूल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है और छात्रों को सीबीएसई गाइडलाइन के अनुसार अंक दिलाने की मांग रखी है। ज्ञापन देने वालों में इंद्रेश त्यागी, दिनेश त्यागी, अमरीश त्यागी, भूपेंद्र कुमार, अमित कुमार, राजकुमार व संदीप कुमार आदि मौजूद रहे।