युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कौशल विकास मिशन के तहत आंवटित होने के बाद भी अभ्यार्थियों को ट्रेनिंग न देने पर सीडीओ विक्रमादित्य सिंह मलिक ने १२ प्रशिक्षण एंजेसियों को ब्लैक लिस्ट कर दिया है। साथ ही शासन को पत्र लिखकर इन सबके खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की है। बता दें कि वर्ष २०२१-२२ में जिला स्तर पर टे्रनिंग एजेंसियों को चयनित अभ्यर्थियों को विभिन्न रोजगारपकर शिक्षा दिए जाने के लिए प्रशिक्षण देना था, इसके लिए लक्ष्य भी आवंटित कर दिए गए थे। लेकिन इन एंजेसियों द्वारा एक भी लाभार्थी को ट्रेनिंग नहीं दी गई। इतना ही नहीं ट्रेनिंग के लिए इन एंजेसियों को दो बार नोटिस भी जारी किया गया, फिर भी एजेंसियों ने ट्रेनिंग को लेकर कोई रूचि नहीं दिखाई। इसके बाद सीडीओ ने एंजेसियों को जिला स्तर पर ब्लैक लिस्ट करते हुए उनकी बैंक गारंटी जब्त करने के निर्देश दिए हैं। इनमें एकेट इंफार्मेशन सिस्टम लिमिटेड, फ्यूचर शार्प स्किल्स लिमिटेड, ग्लोबल विलेज वेलफेयर सोसायटी, गोयल विजन कांस्टुसॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड, ग्रेस एजुकेशन एंड ट्रेनिंग सर्विस प्राइवेट लिमिटेड, हजरत मोहम्मद मैमोरियल शिक्षा समिति, खालास कांस्टूसॉल्यूशन सर्विस प्राइवेट लिमिटेड, स्व.श्रीमति दुर्गा देवी चैरिबेटल ट्रस्ट, श्री वैष्णो एजुकेशनल सोसायटी एटीएम ग्लोबल बिजनेस स्कूल, विप्रो जीई हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड, क्योर एकेडमी, हिमालयन रोलिंग स्टील इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड को ब्लैक लिस्ट किया गया है। सीडीओ विक्रमादित्य सिंह मलिक के मुताबिक बार-बार नोटिस दिए जाने के बाद भी यह एजेंसी ट्रेनिंग नहीं दे रही हैं, जिसकी वजह से युवाओं को काफी दिक्कतें हो रही हैं। समय से उनका प्रशिक्षण सत्र शुरू नहीं हो रहा है। जबकि इन एजेंसियों ने पूर्व में प्रशिक्षण देने के लिए आवेदन किया था, लेकिन आवंटन होने के बाद से इंकार कर दिया।