नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। एक जुलाई से शुरू होने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान के लिए सीडीओ अभिनव गोपाल ने विभागीय अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की है। हर विभाग को रोकथाम में सहयोग देने के साथ-साथ उनके बीच कामों का आंवटन भी किया गया है।
इसके लिए पंचायती राज विभाग, ग्राम्य विकास विभाग सभी विकास खंडों में तालाबों की सफाई, झाडियों की कटाई का काम कराएगा। नगर निगम आरडब्ल्यू के साथ समन्व्य बैठक करेंगे। नगर निगम, नगर पालिका एवं जिला पंचायती राज विभाग को सफाई, कीटनाशक दवाओं का छिडकाव, फॉगिंग की जिम्मेदारी दी गई है। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि विभाग साप्ताहिक बाजारों एवं खुले में बिकने वाले खाद्य पदार्थो व मिठाई की जांच करेंगे।
कृषि, सिंचाई विभाग मच्छर प्रजनन स्थलों का चिन्हिकरण कर सोर्स रिडक्शन की कार्रवाई, मच्छर प्रजनन पर रोकथाम का काम करेंगे। उद्यान विभाग को मच्छर रोधी पौधे जैसे लेमनग्राम, तुलसी, नीम का पौधारोपण अधिक से अधिक कराएंगे। जिला उद्योग केन्द्र को कंस्ट्रक्शन साइट पर कार्यरत एजेंसी, फर्म ठेकेदार,श्रमिकों की सूची जिला मलेरिया अधिकारी को उपलब्ध करानी होगी।
मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, पशुपालन विभाग नगर निगम को सभी सूकर पालकों, पोलिट्री फार्म की सूचना उपलब्ध कराएंगे। जीडीए द्वारा चिन्हित किए गए डेंगू से प्रभावित क्षेत्र क्रॉसिंग रिपब्लिक, इंदिरापुरम, राजेन्द्र नगर, साहिबाबाद के क्षेत्रों में नोडल अधिकारी नामित किए जाएंगे जो मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए ठोस कार्रवाई करेंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा स्कूल-कॉलेजों में छात्रों को फुल डे्रस में आने, अभिभावकों से संवेदीकरण व हर निजी और सरकारी स्कूल में संचारी रोग अभियान के लिए नोडल अधिकारी नामित करने की जिम्मेदारी दी गई है। इस अभियान में 13 विभागों को शामिल किया गया है।