नोएडा (युग करवट)। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आज आयोजित की गई केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) में लाखों रुपया लेकर असली अभ्यर्थियों की जगह साल्वर के माध्यम से परीक्षा दिलवाने वाले एक गैंग के 18 लोगों को थाना सेक्टर 58 पुलिस ने आज गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में 5 महिलाएं भी शामिल हैं। इस गैंग का सरगना फरार है। यह लोग 4 से 5 लाख रुपये लेकर अभ्यर्थियों को परीक्षा दिलवाते हैं। मालूम हो कि 16 और 17 दिसंबर को होने वाली सीटीईटी की परीक्षा रद्द कर दी गई थी। उस समय केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने सफाई दी थी कि तकनीकी खराबी के कारण 16 तथा 17 दिसंबर को होने वाली परीक्षा रद्द की गई है।
पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) राजेस एस ने बताया कि आज सुबह को थाना सेक्टर 58 पुलिस को सूचना मिली कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित की गई केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा मे भाग लेने वाले असली अभ्यर्थियों की जगह नकली अभ्यर्थियों को बैठाकर पेपर साल्व करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जनपद में परीक्षा हल करने जा रहे हैं साल्वर गैंग के भवानी, राम अवतार, शिवराम सिंह, विकास, सुनील, अनिल, अमित यादव, बृजेश, प्रमोद, गजेंद्र, राजेश, सहित 13 पुरुष तथा 5 महिलाओ को थाना सेक्टर-58 पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
उन्होंने बताया कि इस गैंग का सरगना पवन दहिया है, वह फरार है। उन्होंने बताया कि पवन दहिया पेशे से वकील है। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि यह गैंग मथुरा, गुरुग्राम तथा मुरादाबाद में परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों से 4 से 5 लाख रुपये लेकर असली परीक्षार्थी की जगह साल्वर बैठाने वाला था। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार लोगों से गहनता से पूछताछ की जा रही है। इनके पास से पुलिस ने 36 हजार की नगदी, एटीएम कार्ड, लैपटॉप, 21 मोबाइल फोन, फर्जी दस्तावेज आदि बरामद किया है। मालूम हो कि सीटीईटी की परीक्षा 16 तथा 17 दिसंबर को आयोजित की गई थी। लेकिन केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने यह कहकर परीक्षा स्थगित कर दी थी, कि तकनीकी खराबी आ गई है।