युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। गांव रईसपुर के पास अधिग्रहित जमीन को लेकर किसान और प्रशासन के बीच वार्ता सोमवार को होगी। माना जा रहा है कि बैठक में किसानों और प्रशासन के बीच चल रही रस्साकशी दूर हो जाएगी। आज गांव रईसपुर के बड़ी संख्या में किसानों ने विधायक अजितपाल त्यागी से मुलाकात की। उन्हें प्रकरण की पूरी जानकारी दी है। केंद्र सरकार की ओर से 1964 में जमीन का अधिग्रहण किया गया था। अब किसानों का कहना है कि कोर्ट द्वारा बढ़ाए गए जमीन के मुआवजे के आधार पर उन्हें सीपीडब्ल्यूडी पैसा दे।
जब तक यह मुआवजा नहीं दिया जाएगा तब तक वह सीआईएसएफ को जमीन पर 25 एकड़ जमीन पर कब्जा नहीं देंगे। विवाद तब हुआ जब प्रशासन की ओर से भारतीय किसान यूनियन नेता राजबीर सिंह के पास फोन आया। जिसमें कहा गया कि किसान सीआईएसएफ को जमीन पर कब्जा दे। किसानों का कहना है कि वह जब तक उनके मुआवजे का मामला निस्तारित नहीं होगा तब तक सीआईएसएफ को वह जमीन पर कब्जा नहीं देंगे। इस मामले में किसानों के पक्ष में मुरादनगर विधायक अजितपाल त्यागी ने डीएम से बात की। इसके बाद डीएम और किसनों के बीच अब सोमवार को इस मसले पर वार्ता होगी।