युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। शहर में स्वच्छ भारत मिशन के दौरान रोनक बढ़ाने के लिए निगम ने जो वेस्ट प्लास्टिक से ब्यूटिफिकेशन किया था। अब वह निगम की लापरवाहीं का शिकार हो रहे है। हाल ही में युग कवरट ने रेलवे स्टेशन का हाल भी प्रकाशित किया था। यहां गाजियाबाद नगर निगम लिखा हुआ था। इसमें नगर निगम अक्षर टूट कर गिर चुका है। निगम ने इस की ओर कोई गौर नहीं किया है। ऐसा ही हाल अब चौधरी मोड़ और आरडीसी में देखने को मिल रहा है। आरडीसी की बात करे तो यहां नया गाजियाबाद रेलवे स्टेशन के पास निगम ने लोगो लगाया था। आगे आरडीसी लिखा गया था। निगम का जहां लोगो चिपका था वह हट चुका है। आगे केवल आरडीसी ही लिखा रह गया है। जहां बोर्ड विकृत हो चुका है, वहां से हर रोज निगम के अधिकारी और कर्मचारी भी आते जाते है। मगर इसके बाद भी इसे ठीक नहीं किया गया है। ऐसा ही हाल चौधरी मोड़ का देखने को मिल रहा है। चौधरी मोड़ के पास भी नगर निगम ने ब्यूटिफिकेशन के लिए कई तरह की आकृषक लोगो और स्लोगन लगाए गए थे। यहां नगर निगम गाजियाबाद के अलावा कई स्लोगन लिखे गए थे। यहां भी कई अक्षर बोर्ड से या तो निकल गए है या फिर हट गए है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर के ब्यूटिफिकेशन के लिए के लिए निगम ने लाखों रुपये खर्च करने के बाद स्लोगन लगाए थे। अब अधिकारी इनके रखरखाव तक ठीक नहीं कर रहे है। इस को लेकर निगम के अधिकारियों की कब तक नींद टूटेगी यह पता नहीं।