गाजियाबाद (युग करवट)। स्वर्गीय हरविलास गुप्ता शहीद फाउंडेशन व परमार्थ सेवा ट्रस्ट द्वारा आयोजित वीर सावरकर की प्रतिमा पर पुष्पांजलि एवं शरबत वितरण का कार्यक्रम किया गया। विश्व ब्रह्मऋषि ब्राह्मण महासभा के पीठाधीश्वर बीके शर्मा हनुमान ने वीर सावरकर की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए बताया कि वीर सावरकर भारत की आजादी के संघर्ष में एक महान ऐतिहासिक क्रांतिकारी थे। वह एक महान वक्ता, विद्वान, विपुल लेखक, इतिहासकार, कवि, दार्शनिक और सामाजिक कार्यकर्ता थे। परमार्थ सेवा ट्रस्ट के चेयरमैन वीके अग्रवाल ने बताया कि वीर सावरकर की भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में भागीदारी के कारण ब्रिटिश सरकार ने उनसे, उनकी स्नातक स्तर की डिग्री वापस ले ली। महात्मा गांधी हत्या मामले में वीर सावरकर पर भारत सरकार द्वारा आरोप लगाया गया था, परन्तु भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने उन्हें निर्दोष सबित कर दिया था। 26 फरवरी सन् 1966 में 83 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया। इस अवसर पर कार्यक्रम आयोजक राजीव मोहन साठे, रवी मोहन साठे,राकेश मोहन साठे, श्याम सुंदर, चंदन सिंह, सुनील शर्मा, वीके सिंघल, अखिलेश अग्रवाल, लोकेश सिंघल, डीके मित्तल, यूस गर्ग, प्रदीप गुप्ता, आरएस कौशिक आदि मौजूद थे।