युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। सावन के दूसरे सोमवार मंदिरों में शिवभक्तों की भीड़ उमड़ी। जस्सीपुरा स्थित दूधेश्वरनाथ मंदिर में तड़के सुबह से ही जलाभिषेक के लिए भक्तों का पहुंचना शुरू हो गया था। भीड़ को देखते हुए जस्सीपुरा मोड़ पर बेरिकेटिंग लगाकर वाहनों की आवाजाही के लिए रास्ता बंद कर दिया गया। भीड़ के आगे सोशल डिस्टेंस का पालन भी मंदिर परिसर में कहीं होता नहीं दिखाई दिया।
बता दें कि सावन माह के सोमवार में शिवपूजन का विशेष महत्व माना जाता है। इस दिन भक्त व्रत रखकर शिव का पूजन करते हैं और जलाभिषेक कर भगवान को प्रसन्न करते हैं। दूधेश्वरनाथ मंदिर के महंत नारायण गिरी के मुताबिक सावन में भगवान शिव का पूजन करने से वह हमेशा अपने भक्तों पर अपनी कृपा बनाए रखते हैं। महज जल अर्पित करने से ही भगवान शिव प्रसन्न हो जाते हैं। सुबह से ही जलाभिषेक के लिए दूधेश्वरनाथ मंदिर में भक्तों की लाइन लगी रही। हालांकि, कोरोना का थोड़ा असर जरूर देखने को मिला। लाइन मंदिर परिसर तक ही लगी रही। जबकि इन दिनों मंदिर में दर्शन के लिए जीटी रोड तक भक्तों की लाइन पहुंच जाती थी। मंदिर में जलाभिषेक के लिए भक्तों का तांता इस कदर लगा हुआ था कि सोशल डिस्टेंस कहीं भी नजऱ नहीं आया। हालांकि, मंदिर के वॉलंटियर लगातार लोगों से सोशल डिस्टेंस के साथ दर्शन करने की अपील करते दिखाई दिए। वहीं शहर के अन्य मंदिरों में भी भक्तों की भीड़ जलाभिषेक के लिए लगी रही।