नोएडा (युग करवट)। शादीशुदा होते हुए एक महिला सोशल मीडिया पर अपने आपको कुंवारी बताकर लोगों से दोस्ती करती है तथा उन्हें अपने जाल में फंसा लेती है। बाद में उन पर बलात्कार का आरोप लगाकर उनसे मोटी रकम वसूलती है। थाना सेक्टर-49 में एक पीड़ित ने महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि महिला अब तक दर्जनों लोगों को अपने जाल में फंसा कर मोटी रकम वसूल चुकी है। महिला के गैंग में कुछ मीडिया कर्मी भी शामिल है। अगर पुलिस कार्रवाई नहीं करती है, तो ये मीडिया कर्मी सोशल मीडिया तथा अन्य माध्यम से पुलिस पर दबाव बनाते हैं। उसके बाद महिला अपने शिकार से मोटी रकम वसूल लेती है।
पुलिस उपायुक्त (महिला सुरक्षा) श्रीमती वृंदा शुक्ला ने बताया कि अगाहपुर गांव सेक्टर-41 में रहने वाले दीपक कुमार गुप्ता ने थाना सेक्टर-49 में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि स्वाति उर्फ सिया नामक महिला से डेटिंग एप पर उनसे मुलाकात हुई। स्वाति ने अपने आप को कुंवारा बताकर एप पर रजिस्ट्रेशन करवाया था। दोनों के बीच बातचीत हुई तथा स्वाति ने उसे ओखला में मिलने के लिए बुलाया। वहां पर दोनों की आपसी सहमति से शारीरिक संबंध बने। उन्होंने बताया कि पीड़ित का आरोप है कि उसके बाद स्वाति ने उसको ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया तथा उससे मोटी रकम वसूली। पैसे ना देने पर वह उसे बलात्कार के मुकदमे में फंसाने की धमकी दे रही थी। उन्होंने बताया कि बाद में स्वाति ने पुलिस बुला लिया तथा पुलिस के दबाव में उसने उसके साथ शादी की। शादी के बाद वह स्वाति के साथ रहने लगा।
उन्होंने बताया कि पीडि़त के अनुसार इसी बीच उसके घर पर रोज नए नए लडक़े आने लगे। उन्होंने बताया कि शक होने पर जब दीपक ने जांच की तो उसे पता चला कि स्वाति पहले से ही शादीशुदा है तथा वह अपने आपको सोशल मीडिया के माध्यम से कुंवारी बताती है। लडक़ों से दोस्ती कर उन्हें अपने जाल में फंसा कर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाती है तथा उन पर बलात्कार का मुकदमा दर्ज करवाने की धमकी देकर मोटी रकम वसूलती है। डीसीपी ने बताया कि पीड़ित का आरोप है कि स्वाति ने अब तक दर्जनों लोगों के साथ इस तरह की वारदात की है। उन्होंने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। पीड़ित का आरोप है कि इस गैंग में कई लोग शामिल हैं, जिसमें कुछ मीडियाकर्मी भी हैं, जो अपने प्रभाव से पुलिस पर दबाव बनाकर महिला के जाल में फंसे लोगों से मोटी रकम वसूलते हैं। बताया जाता है कि नोएडा के कुछ पत्रकार भी इस महिला के साथ जुड़े हुए हैं। इन पत्रकारों ने भी नोएडा पुलिस पर दीपक को जेल भेजने का दबाव बनाया था। उन्होंने बताया कि पुलिस को जांच में पता चला है कि महिला कई लोगों पर बलात्कार का मुकदमा दर्ज करवा चुकी है। जब महिला का शिकार उसे पैसे दे देता है, तो ये लोग कोर्ट में गवाही बदलकर उसे बरी करवा देते हैं। पुलिस पूरे गैंग के बारे में गहनता से जांच कर रही है।