युग करवट ब्यूरो
पीलीभीत। उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में 24 घंटे के अंदर हुई दो गैंगरेप की घटना से पुलिस महकमे में हडक़ंप मच गया। पहले 16 वर्षीया दलित किशोरी से उसके घर में घुसकर सामूहिक बलात्कार किया और इसके बाद उस पर डीजल डालकर आग लगा दी। लडक़ी को झुलसी हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने 2 लोगों के खिलाफ गैंगरेप सहित कई धाराओं में केस दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मजिस्ट्रेट ने लडक़ी के बयान भी दर्ज कर लिए हैं। दूसरी घटना में गांव के दो युवक 12वीं क्लास में पढऩे वाली छात्रा को रात में घर से उठाकर ले गए। जहां उसके साथ गन्ने के खेत में गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। पीडि़ता के पिता ने पुलिस को सूचना दी कि उसके गांव के दो दबंग राजवीर और ताराचंद ने घर में घुसकर उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया और डीजल छिडक़कर उसे आग लगा दी। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सूचना मिलने पर वह तत्काल किशोरी के गांव पहुंचे और पूरे मामले की खुद जांच की। उन्होंने बताया कि परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने राजवीर व ताराचंद के खिलाफ बलात्कार, हत्या के प्रयास और धमकी देने का मुकदमा दर्ज दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।
दूसरे मामले में 12वीं क्लास में पढऩे वाली नाबालिग दलित छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया। पीडि़ता ने आरोप लगाया कि गांव के रहने वाले दो युवक उसे रात के समय घर से उठाकर ले गए और उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। पीडि़ता की मां ने सुबह देखा कि उनकी बेटी घर नहीं है, जब उसे ढूंढना शुरू किया देखा कि गन्ने की खेत में अचेत अवस्था में पड़ी मिली। इसके बाद परिजनों ने उसे उठाया और घर लेकर आए। पीडि़ता ने माता-पिता को आपबीती बताई और तुरंत ही इसकी शिकायत थाने में दर्ज कराई गई। पीलीभीत में 24 घंटे के अंदर हुई दो गैंगरेप की घटना ने लड़कियों की सुरक्षा पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं।