खुलेंगे शहर के बाज़ार, व्यापारियों, ट्रांसपोर्टर के साथ डीएम ने ली बैठक
युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण की दर घटने के साथ उत्तर प्रदेश के ६८ जिलों में लॉकडाउन खोल दिया गया है। ऐसे में अब गाजियाबाद जिले में भी अनलॉक की तैयारी शुरू हो गई हैं। संभवता जिले में सात जून से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होगी। अनलॉक को लेकर आज डीएम अजय शंकर पांडेय ने विभिन्न व्यापारी संगठनों के साथ बैठक करते हुए अपील की है कि बाज़ार खुलने के बाद कोविड नियमों का सख्ती से पालन किया जाए और वैक्सीनेशन भी प्राथमिकता पर कराया जाए।
बता दें कि पूरे प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर में तेजी से कमी आ रही है जिसे देखते हुए प्रदेश सरकार ने ३१ मई से उन जिलों में लॉकडाउन खोल दिया है जहां एक्टिव मरीजों की संख्या ६०० तक है। जिले में वर्तमान में एक्टिव मरीजों की संख्या ९८३ है। हालांकि, संभावना जताई जा रही है कि जिस तेजी से जिले में संक्रमण घट रहा है, उससे जल्द ही एक्टिव मरीजों की संख्या में भी कमी आएगी। ऐसे में जिला प्रशासन ने सात जून से जिले में अनलॉक की तैयारी शुरू कर दी है। अनलॉक की प्रक्रिया को लेकर डीएम अजय शंकर पांडेय ने विभिन्न संगठनों के साथ बैठक की और उनसे लॉकडाउन खोले जाने के बाद सावधानी बरते जाने और अन्य सुझाव मांगे।
डीएम ने कहा कि जिले में जल्द ही लॉकडाउन खोला जाएगा जिसके चलते प्रदेश सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक सुबह सात से शाम सात बजे तक बाज़ार व प्रतिष्ठान खोले जाएंगे।
होटल रेस्टोरेंट में भी सिर्फ होम डिलीवरी की ही सुविधा रहेगी। शासन से जारी गाइडलाइन के अनुसार ही अनलॉक किया जाएगा। हालांकि, इस दौरान कपड़ा व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल सांवरिया ने कहा कि बाज़ारों के खुलने का समय सुबह आठ से रात आठ बजे तक होगा जिसे लेकर डीएम ने व्यापारियों को आश्वसत किया है। साथ ही कपड़ा व्यापारियों के मंगलवार को बाज़ार को खुला रखने की मांग को भी डीएम द्वारा स्वीकार किया गया है। डीएम ने कहा कि लॉकडाउन खुलने के बाद बाज़ारों में साप्ताहिक बंदी शनिवार-रविवार को जारी रहेगी व नाइट कफ्र्यू भी पूर्व की तरह ही जारी रहेगा।
कपड़ा एसोसिएशन के महामंत्री रजनीश बंसल ने इस दौरान मांग रखी है कि व्यापारियों व उनके स्टाफ के लिए बाज़ार में ही वैक्सीनेशन की व्यवस्था कराई जाए जिसे जल्द शुरू करने का आश्वासन डीएम ने दिया है। इस दौरान महानगर उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष गोपीचंद ने प्रस्ताव रखा कि बाजार पूर्व में जैसे खुलते थे उसी अनुसार खुलने चाहिए जो बाजार मंगलवार को बंद रहते थे, जो रविवार को बंद रहते थे वह ऐसे ही बंद रहे। दो दिन की बंदी से दुकानदारों को खुद का सामान लेने में दिक्कते होंगी।
बैठक में सभी संगठनों से वार्ता के उपरांत सात जून से बाज़ार खोलने को लेकर वार्ता की गई और संभवता वर्तमान हालातों को देखते हुए सोमवार से शहर में अनलॉक शुरू हो जाए। बैठक में डीएम ने व्यापारियों को सुझाव दिए हैं जिसमें कहा गया है कि बाज़ार खुलने के बाद सभी सख्ती से कोविड नियमों का पालन करेंगे। निर्धारित समय से बाज़ार खोले और बंद किए जाएंगे। तो वहीं मास्क और सोशल डिस्टेंस का भी सख्ती से पालन होगा। एक समय में दुकान में अधिक भीड़ नहीं होगी। कैश काउंटर पर बैठे लोग भी अनिवार्य रूप से मास्क पहनेंगे। कॉमन एसी नहीं चलाए जाएंगे। बाज़ारों में कोविड हेल्प डेस्क बनाई जाएंगी। इतना ही नहीं सभी व्यापारी व स्टाफ का वैक्सीनेशन भी जल्द से जल्द पूरा कराया जाएगा। ट्रांसपोर्टरों को निर्देश दिए गए हैं कि वह एक से अधिक संख्या में वाहन में लोग ना बैठें। मास्क का प्रयोग किया जाए। बैठक में एडीएम सिटी एसके सिंह, सीएमओ डॉ.एनके गुप्ता के अलावा महानगर उद्योग व्यापार मंडल के महामंत्री अशोक चावला, गाजियाबाद लोहा विक्रेता मंडल से डॉ.अतुल जैन व आरडब्ल्यूए फेडरेशन से कर्नल टीपी त्यागी आदि व्यापार संगठन के पदाधिकारी मौजूद रहे।