युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। उद्योग व्यापार मंच के प्रदेश अध्यक्ष व उद्यमी संजीव गुप्ता ने व्यापारी हित को लेकर सरकार को सुझाव दिए हैं। संजीव गुप्ता ने कहा कि एक कारोबारी काफी परेशानियों को झेलकर व्यापार करता है जिसमें उसे कभी-कभी आर्थिक तंगी का सामना तो करना ही पड़ता है, कई तरह के टैक्स की मार भी उसे झेलनी पड़ती है। इसके बाद भी उसे सरकार की ओर कोई बड़ी राहत नहीं मिल पाती। व्यापारी सरकार को बड़े पैमाने पर टैक्स देते हैं जिससे सरकार को राजस्व भी मिलता है। उन्होंने कहा कि सरकार जिस तरह सरकारी कर्मचारियों और जनप्रतिनिधियों को पेंशन प्रदान करती है तो उसी प्रकार साठ वर्ष की आयु पूरी करने वाले व्यापारियों को भी पेंशन दी जाए, जिससे बुजर्ग हो चुके व्यापारियों को कुछ आर्थिक मदद मिल सके। इसके अलावा व्यापारी दुर्घटना बीमा का लाभ हर प्रकार के व्यापारी को मिले, इसमें छोटे से लेकर बड़े कारोबारियों को भी शामिल किया जाए। सरकार द्वारा व्यापारी दुर्घटना बीमा योजना शुरू की गई ह़ै लेकिन अभी इसमें सीमित श्रेणी को ही शामिल किया गया है। संजीव गुप्ता ने कहा कि सरकार द्वारा व्यापारियों के हित की कई योजनाएं संचालित की है, लेकिन प्रचार-प्रसार के अभाव में इन योजनाओं का अधिक लाभ व्यापारियों तक नहीं पहुंच पा रहा है। कोरोना काल के दौरान व्यापारी सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं, सरकार ने आर्थिक राहत पैकेज जारी किया था लेकिन उसका लाभ व्यापारी वर्ग को नहीं मिला है। उन्होंने सरकार से वर्तमान में आर्थिक तंगी से जूझ रहे व्यापारियों को राहत पैकेज देने का सुझाव रखा है ताकि व्यापारी फिर से कारोबार को सुचारू रूप से चला सके और सरकार के राजस्व में भी बढ़ोत्तरी हो सके। संजीव गुप्ता ने व्यापारियों को राहत देते हुए बिजली बिलों में राहत और जीएसटी शुल्क में भी राहत देने की बात कही।