वरिष्ठ संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद राहुल गांधी की ईडी के समक्ष चल रही पेशी से कांग्रेसियों में आक्रोश है। इसके विरोध में जिला एवं महानगर कांग्रेस कमेटी के तत्वाधान में कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए प्रशासन के माध्यम से देश के राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित किया।
जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बिजेन्द्र यादव के नेतृत्व में ज्ञापन देने पहुंचे कांग्रेसियों ने कहा कि केंद्र सरकार की तानाशाही और दमनकारी नीतियां चरम सीमा पर पहुंच गई हैं और भाजपा सरकार पूरी तरह से निरंकुश हो चली है। वास्तविक समस्याओं से ध्यान हटाने के लिए विरोधियों के खिलाफ केंद्रीय संस्थाओं का दुरुपयोग कर उन्हें झूठे केसों में फंसाया जा रहा है। देश की समस्याओं को मुखर रूप से उठाने वाले कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी को ईडी के समक्ष पूछताछ के लिए बुलाकर उत्पीडऩ किया जा रहा है। साथ ही कांग्रेसियों द्वारा शांतिपूर्वक तरीके से किए जा रहे सत्याग्रह को कुचलने का काम किया जा रहा है। कांग्रेसियों ने मांग की है कि केंद्र सरकार की दमनकारी नीतियों पर तुरंत अंकुश लगाया जाए। इस दौरान पूर्व मंत्री सतीश शर्मा, प्रदेश सचिव नसीम खान, पूर्व पार्षद अमोल वशिष्ठ, पूर्व पार्षद मोहम्मद हनीफ चीनी, पीसीसी सुरेन्द्र शर्मा, सुनील शर्मा समेत बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद रहे।
उधर, महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष लोकेश चौधरी के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने ज्ञापन प्रेषित किया। इस दौरान महानगर अध्यक्ष ने कहा कि महंगाई, भ्रष्टाचार और बेरोजगारी जैसे मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए लिए सरकार राहुल गांधी को घेरने का काम बंद करे। राहुल गांधी की अवाज दबाने के लिए षड्यंत्र के तहत ईडी के समक्ष उनकी पेशी की जा रही है। उन्होंने कहा कि इसके विरोध में कांगे्रसियों का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी रहेगा। इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेसी और पीसीसी सतीश शर्मा, ओमदत्त गुप्ता, राजकुमार शर्मा, शाहनवाज उर्फ शानू चौधरी, वीर सिंह, हीरालाल जाटव, उज्जवल गर्ग, बाबूराम आर्य, जितेन्द्र सिंह, पंकज तेजानिया, बलराज चावड़ा समेत बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद रहे।