युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। डीएम द्वारा तय जमीन के सर्किल रेट के हिसाब से टैक्स में वृद्घि करने का खतरा अभी टला नहीं है। इसके लिए नगर निगम प्रशासन ने एक बार फिर से सुनवाई शुरू कर दी है। इस बार सुनवाई के लिए तीन दिन तय किए गए है। इनमें 15, 16, और 17 दिसंबर की तारीख तय की गई है। इसी वर्ष नगर निगम ने हाउस टैक्स में 15 प्रतिशत की वृद्घि की थी। इससे पहले नगर निगम ने हाउस टैक्स डीएम द्वारा तय जमीन के सर्किल रेट के हिसाब से बढ़ाने के लिए नोटिफिकेशन किया था। जिस पर करीब साढ़े तीन सौ लोगों ने आपत्तियां दर्ज कराई थी।
इसमें से केवल दस प्रतिशत लोगों को ही सुनवाई के लिए नगर निगम ने चुना था। चुने गए 85 में से केवल 50 आपत्तिकर्ताओं की सुनवाई कमेटी कर चुकी है। अभी भी 35 संस्थाएं और लोग ऐसे है जिनको सुनवाई के लिए निगम की कमेटी के सामने पेश होना है। ऐसे लोगों में बीजेपी पार्षद हिमांशु मित्तल भी शामिल है। उन्हें भी इस कमेटी के सामने पेश होना है। निगम के मुख्य कर निर्धारण अधिकारी डॉ0 संजीव सिन्हा ने बताया कि कमेटी सुनवाई 15 ,16, और 17 दिसंबर को करेगी। समय सुबह दस बजे से लेकर दो बजे तक होगा। इसके बाद कमेटी अपनी रिपोर्ट नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर को देगी। इसके बाद तय होगा कि शहर में हाउस टैक्स डीएम द्वारा तय जमीन के सर्किल रेट के हिसाब से लगाया जाएगा या नहीं।