युग करवट ब्यूरो
लखनऊ। यूपी सरकार ने 24 घंटे के अन्दर अपना फैसला बदलते हुए एक बार फिर आईएएस कौशल राज शर्मा को वाराणसी के डीएम पद पर बने रहने का आदेश जारी किया है। उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को बड़े पैमाने पर आईएएस अधिकारियों के तबादलों में 2006 बैच के आईएएस अधिकारी और वाराणसी के जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा को प्रयागराज का कमिश्नर नियुक्त किया गया था। उनकी जगह एस. राजलिंगम वाराणसी के नए जिलाधिकारी बनाए गए थे, लेकिन योगी आदित्यानाथ सरकार ने देर रात फैसला लिया कि कौशल राज शर्मा अभी वाराणसी के जिलाधिकारी बने रहेंगे।
पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 57वें जिलाधिकारी के रूप में कौशलराज शर्मा ने नवंबर 2019 में को कार्यभार ग्रहण किया था। बता दें कि पीएम मोदी कौशल राज शर्मा को सम्मानित भी कर चुके हैं। यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने शुक्रवार रात को 13 आइएएस और 20 पीसीएस अधिकारियों के तबादले किए थे। इन तबादलों में विशेष सचिव, मंडलायुक्त, डीएम, नगर मजिस्ट्रेट और मुख्य विकास अधिकारी स्तर के अधिकारी शामिल हैं। तबादलों में वरिष्ठ आइएएस अधिकारी संजय कुमार को सचिव, वित्त विभाग से हटाकर प्रबंध निदेशक, उत्तर प्रदेश राज्य सडक़ परिवहन निगम बनाया गया है। राजेंद्र प्रताप सिंह को प्रबंध निदेशक राज्य सडक़ परिवहन निगम से चित्रकूट और बांदा का मंडलायुक्त बनाया गया।
राजलिंगम अभी तक कुशीनगर में डीएम थे। वहीं, उन्नाव के डीएम रवीन्द्र कुमार को कुशीनगर की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बलरामपुर की डीएम श्रुति को फतेहपुर भेजा गया है। वहीं, कानपुर के मुख्य विकास अधिकारी डॉ. महेंद्र कुमार अब बलरामपुर के डीएम होंगे। अंबेडकरनगर में सीडीओ के पद पर तैनात सुधीर कुमार कानपुर के नए मुख्य विकास अधिकारी बनाए गए हैं। योगी सरकार ने इसके अलावा 20 वरिष्ठ पीसीएस अधिकारियों के भी तबादले किए हैं। वहीं कई और अधिकारियों के तबादलों में भी संशोधन किया गया है। मनीष चौहान को आजमगढ़ का कमिश्नर बनाया गया है। वहीं ये भी चर्चा है कि नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ऋतु माहेश्वरी को कानपुर में इंड्स्ट्री आयुक्त भी बनाया जा सकता है। हालांकि ऋतु माहेश्वरी जबसे नोएडा में तैनात हैं वहां पर काफी विकास हुआ है।