नोएडा (युग करवट) थाना बिसरख क्षेत्र के टिगरी गांव के पास, वर्ष-2017 के नवंबर माह में हुई भाजपा नेता शिव कुमार यादव व उनके दो गनरों की हत्या के मामले में गवाह उनके भाई योगेश यादव की सुरक्षा में तैनात सरकारी गनर ने शराब के नशे में सरेआम फायरिंग कर दी। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया है। अपर पुलिस उपायुक्त (जोन द्वितीय) अंकुर अग्रवाल ने बताया कि बहलोलपुर गांव में रहने वाले योगेश यादव की सुरक्षा में कांस्टेबल राजकुमार तैनात था। बीती रात को उसने शराब का सेवन किया तथा अपनी कारबाइन से फायरिंग शुरू कर दी। इस बात से बहलौलपुर गांव में दहशत फैल गई। कुछ लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी।
उन्होंने बताया कि मौके पर पहुंची पुलिस ने कांस्टेबल राजकुमार को हिरासत में ले लिया, तथा उसे थाने लाई। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। अपर उपायुक्त ने बताया कि कांस्टेबल की अपनी पत्नी से किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। जिसकी वजह से वह तनाव में था। कांस्टेबल द्वारा सरेआम कार्बाइन से फायरिंग करने से भाजपा नेता के परिजनों ने दहशत है। भाजपा नेता के परिजनों के अनुसार शिव कुमार की हत्या में दरोगा अमित तथा दीवान सहित कई लोग जेल गए है। उन्हें इस बात का भय सता रहा है कि कहीं उन लोगों की शह पर गनर ने गोली तो नहीं चलाई है। मालूम हो कि वर्ष-2017 के नवंबर माह में भाजपा नेता शिव कुमार यादव, उनके गनर आलोक नाथ, रईसपाल की थाना बिसरख क्षेत्र के तिगरी गांव के पास दिनदहाड़े सरेआम गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना में एक 13 वर्षीय बच्ची की भी जान चली गई थी। इस मामले में कुख्यात गैंगस्टर सुंदर भाटी के भतीजे अनिल भाटी, शेरू भाटी, अमन यादव, दरोगा अमित यादव सहित कई लोगों की गिरफ्तारी हुई है।