गाजियाबाद। जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव अब दिलचस्प मोड़ पर पहुंच गया है। समाजवादी पार्टी और रालोद ने अपना संयुक्त प्रत्याशी विधायक असलम चौधरी की पत्नी नसीम चौधरी को घोषित कर दिया है। श्रीमति नसीम चौधरी को प्रत्याशी घोषित करने की जानकारी समाजवादी पार्टी द्वारा दी गई थी। हालांकि, अब रालोद के जिलाध्यक्ष अजय प्रमुख और सपा के जिला एवं महानगर अध्यक्ष राशिद मलिक और राहुल चौधरी ने यह मान लिया है कि वे गठबंधन की संयुक्त प्रत्याशी हैं। ऐसे में गठबंधन को अब 2 वोटों और भाजपा को 6 वोटों की दरकार है। देखना दिलचस्प होगा कि रणनीति और जोड़तोड़ के इस खेल में किसका बेड़ा पार हो पाता है। जिला पंचायत सदस्य का चुनाव होने के बाद से ही इस बात पर सबकी निगाहें टिकी हैं कि जिला पंचायत अध्यक्ष पद की कुर्सी पर किसका कब्जा होगा। जिला पंचायत चुनाव में मात्र दो सीटें जीतने वाली भाजपा ने वार्ड-14 से चुनाव जीतीं ममता त्यागी को पूर्व में ही प्रत्याशी घोषित कर इस चुनाव में सरगर्मियां बढ़ा दी थीं। उसके बाद से ही इंतजार था कि विपक्ष जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में क्या रणनीति अपनाता है। जिला पंचायत चुनाव समाजवादी पार्टी और रालोद ने अलग-अलग लड़ा था। दोनों ही पार्टियों ने अपने प्रत्याशी मैदान में उतारे थे। जिला पंचायत चुनाव में सपा के तीन और रालोद के तीन प्रत्याशी जीतने के बाद छह वोट अब सपा और रालोद के गठबंधन के पास हैं।