युग करवट ब्यूरो
लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सभी दल गठबंधन बनाने के लिए प्रयास में लगे हुए हैं। एक ओर समाजवादी पार्टी और रालोद का गठबंधन लगभग तय हो गया है, वहीं दूसरी ओर भाजपा को शिकस्त देने के लिए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव गठबंधन का दायरा बढ़ाने में लगे हुए है। अखिलेश दूसरी छोटी पार्टियों के साथ भी गठबंधन करना चाह रहे हैं।
इसी के तहत आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने आज समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात की। दोनों के बीच करीब एक घंटे तक बातचीत चली। इस मुलाकात के बाद अब इस बात की चर्चा भी शुरू हो गई है कि क्या आरएलडी के बाद अब समाजवादी पार्टी आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन करने की तैयारी में है। ऐसा इसलिए भी क्योंकि अखिलेश कई मौकों पर इस बात को कह चुके हैं कि वो अगला चुनाव छोटी-छोटी पार्टियों के साथ मिलकर लड़ेंगे।
संजय सिंह आम आदमी पार्टी के सांसद होने के साथ-साथ यूपी के प्रभारी भी हैं। संजय सिंह और अखिलेश यादव के बीच ये तीसरी मुलाकात थी। करीब दो महीने पहले भी अखिलेश ने संजय सिंह से मुलाकात की थी और हाल ही में मुलायम सिंह के जन्मदिन पर भी दोनों के बीच मुलाकात हुई थी।
आज फिर तीसरी बार लोहिया ट्रस्ट के दफ्तर में अखिलेश और संजय सिंह के बीच मुलाकात हुई। इस दौरान दोनों के बीच एक घंटे से भी ज्यादा मुलाकात हुई। बताया जा रहा है कि दोनों के बीच गठबंधन को लेकर बात हुई है। मुलायम के जन्मदिन पर भी दोनों के बीच गठबंधन को लेकर ही चर्चा हुई थी।
हालांकि, अभी तक सीटों के बंटवारे का फॉर्मूला तय नहीं हो पाया है। वहीं संजय सिंह से मुलाकात करने के बाद अखिलेश ने अपना दल की कृष्णा पटेल से भी मुलाकात की। अपना दल को भी गठबंधन में शामिल करने की कवायद चल रही है। बताया जाता है कि अपना दल वाराणसी, प्रतापगढ़, मिर्जापुर, जौनपुर की दस सीटों पर चुनाव लडऩे का दावा कर रही है।