नगर संवाददाता
गाजियाबाद। (युग करवट) सन सिटी योजना के प्रभावित किसानों ने किसान संघर्ष समिति डासना के बैनर तले जिला मुख्यालय पर धरना दिया। समिति के अध्यक्ष आनंद नागर ने बताया कि २४ मार्च २०१६ से हाईटेक टाउनशिप की सन सिटी योजना के उपेक्षापूर्ण रवैये के कारण अनिश्चितकालीन धरना चल रहा है। पूव में कई बार किसानों की जीडीए के साथ वार्ता हो चुकी है, लेकिन किसानों को सिर्फ आश्वासन ही दिया जाता है। किसानों ने आरोप लगाया है कि ६ सितम्बर २०२२ को सनसिटी द्वारा नायाब तहसीलदार व पुलिस द्वारा जमीनों पर कब्जा लिया गया। इसके बाद सात सितम्बर को किसान जीडीए ओएसडी से मिले, जिन्होंने १४ सितम्बर को वार्ता का समय दिया था। लेकिन, १४ तारीख को फिर से काम शुरू कर दिया गया है। समिति ने अपनी पांच सूत्रीय मांगे रखते हुए कहा कि सभी प्रभावित किसानों को १० फीसदी प्लॉट दिया जाएं, परिवार के एक सदस्य को रोजगार दिया जाए, भूमिहीन परिवार को १२० वर्ग का प्लॉट, अल्प आय वर्ग के लोगों को एलआईजी फ्लैट दिया जाए, किसानों की जमीन का चार गुना मुआवजा दिया जाए और प्रभावित गांवों में शहर की तर्ज पर विकास कराया जाए। किसानों ने डीएम के नाम एक ज्ञापन भी इस दौरान सौंपा। इस मौके पर फैसल हुसैन, मुबारिक अली, अनवर चौधरी, प्रकाध प्रधान, ओमदत्त नागर, सुरेश शर्मा, अबरार चौधरी आदि मौजूद रहे।