युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। संस्कार प्रवाह चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा प्रकल्पित आध्यात्मिक एवं शैक्षणिक केंद्र ‘संस्कार उपवन’ के शिलान्यास महोत्सव के उपलक्ष्य में आयोजित तीन दिवसीय संत भक्त चरित्र सत्संग का आयोजन हिंदी भवन में किया गया। जिसमें जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी वासुदेवाचार्य विद्या भास्कर महाराज का आगमन हुआ। शिलान्यास का कार्यक्रम ग्राम कुर्सी, मुरादनगर में हुआ। शिलान्यास के मौके पर वृन्दावन से आये बाबा चित्र विचित्र द्वारा भजन संध्या का भी आयोजन किया गया। जिसमें खचाखच भरे हुए हिंदी भवन के सभागार में भक्तों के जमकर आनन्द लिया।
इस रस और ज्ञान की गंगा को गाजिय़ाबाद में प्रवाहित करने का भगीरथ कार्य आध्यात्मिक गुरु नवनीतप्रिय दास द्वारा किया गया। आप संस्कार उपवन के संस्थापक हैं। कार्यक्रम को सफल बनाने में संस्था के उपाध्यक्ष संजीव गुप्ता समरकूल, सचिव हरिमोहन गोयल, कोषाध्यक्ष अंशुल मित्तल, रामनरेश तोमर, अरविन्द भारद्वाज, अनिल सांवरिया, राहुल शर्मा, मयंक गोयल, अमरजीत सिंह बिड्डी, संजय तेवतिया, विपुल, कपिल चौधरी, अरविंद भारद्वाज आदि का सहयोग रहा।