गाजियाबाद (युग करवट)। आज नेशनल ब्रदर्स डे है। ये साल में एक बार आता है। आज सभी लोग अपने भाईयों को शुभ संदेश लिख रहे हैं। परन्तु क्या, भाई से प्रेम को एक दिन ही दर्शाया जाता है। भाई तो जन्म से लेकर अंत तक हर सुख, हर दुख, हर सफलता, और हर कठिनाईयों में साथ खड़े रहने वाले रिस्ते का नाम है। बचपन में जिसके साथ खेले है। साथ में पढ़े है। साथ में खाना खाये हैं।
बचपन के हर काम में साझेदार रहे हैं। ऐसे भाई के रिश्ते का दिन साल में एक बार नहीं हो सकता है। यह कहना है समरकूल के चेयरमेन संजीव गुप्ता का। उन्होंने कहा कि मेरा तो जीवन ही अपने भाई के साथ सफल हुआ है। भगवान नजर ना लगाये। लेकिन आज हम दोनों भाईयों ने क्षेत्र में राम लखन की जोड़ी की जो पहचान बनाई है। एक मिशाल बनाई है। मैं आज परिवार का ज्येष्ठ सदस्य होने के नाते अपने स्वर्गीय माता पिता से आशीर्वाद के रूप में यही प्रार्थना करता हूं कि हमारे प्यार और विश्वास की मिशाल, ऐसे ही युगों युगों तक कायम रहे।
मेरे लक्ष्मण जैसे भाई प्रिय राजीव को आज ब्रदर्स डे पर मेरे सभी आशीर्वादों के साथ ढेर सारा प्यार और बधाइयां और शुभकामनाएं। माता रानी बस इतनी कृपा बनाये रखे कि हमारे परिवार में हमारे बाद भी भाईयों के प्रेम की ऐसी ही परम्परा युगों युगों तक चलती रहे। भाई दिवस की मंगलकामनाए।