युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। संगीन आरोपों से घिरे आईजी पीएसी की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। सूत्रों के मुताबिक, गाजियाबाद निवासी एक व्यक्ति द्वारा आईजी पीएसी पर लगाये गये संगीन आरोपों की सत्यता की जांच करने के लिये डीजीपी मुकुल गोयल ने एडीजी पीएसी अजय आनन्द को जांच अधिकारी बनाया है। बता दें कि गाजियाबाद निवासी एक व्यक्ति द्वारा पीएसी में तैनात एक आईजी पर संगीन आरोप लगाते हुए शासन को ट्वीट किया गया था कि आरोपित आईजी उनकी पुत्री को रात के समय कॉल करते हैं। उनकी पुत्री द्वारा कई बार विरोध किये जाने पर भी आरोपित सीनियर पुलिस अफसर की हरकत नहीं रूकी। टï्वीट करने वाले व्यक्ति ने शासन से मदï्द मांगते हुए आरोपित पुलिस अफसर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी। सूत्रों के मुताबिक उक्त सनसनीखेज प्रकरण के उजागर होने के बाद डीजीपी मुकुल गोयल को आईजी पीएसी पर लगे आरोपों की जांच एडीजी पीएसी अजय आनन्द को सौंप दी है। बता दें कि जिस युवती के पिता ने आईजी पीएसी पर संगीन आरोप लगाये हैं, उसका पति भी आईपीएस अफसर है। बहरहाल, आईजी पीएसी पर लगे आरोपों में कितनी सत्यता है, इसका पता तो जांच के बाद ही चल पायेगा लेकिन वर्तमान में तो यह प्रकरण सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस महकमे से लेकर आमजन तक सुर्खियों में आ गया है।