गाजियाबाद (युग करवट)। अयोध्या में श्रीराम लला की प्राण प्रतिष्ठा का समय जैसे-जैसे नजदीक आता जा रहा है वैसे ही शहर श्रीराम के रंग में रंगने लगा है। प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर जहां मंदिरों में विशेष आयोजन किए जाएंगे वहीं रामभक्त घरों में भी सजावट से लेकर दीये जलाएंगे। इस समारोह को भव्य बनाने के लिए शहर के बाजार भी पीछे नहीं हैं। समारोह से सम्बंधित सामग्री बाजारों में बिकने लगी है। तो वहीं मिठाई की दुकानों पर श्रीराम भोग उपलब्ध कराए जा रहा है। हालांकि रामभक्ति से इतर साइबर फ्राड भी सक्रिय हो गए हैं। प्रस्तुति: शोभा भारती
श्रीराम नाम के झंडों से अटा बाजार
प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दिन घरों में भी दिवाली मनाने की बात कही जा रही है। इसके चलते रामभक्तों ने घरों में सजावट को लेकर तैयारी शुरू कर दी हैं। वहीं बाजार भी इसके लिए पूरी तरह से तैयार हो गए हैं। बाजार श्रीराम के नाम और प्रतीक चिन्हों से युक्त झंडों व पातकाओं से अटे हुए हैं। शहर में बडे पैमाने पर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दिन शोभायात्राएं निकलने की सम्भावना हैं। छोटे से लेकर बडे साइज की पताकाएं रखी गई हैं जिन्हें खरीदने वालों की भी कमी नहीं है। इसके अलावा पूजन सामग्री, श्रीराम दरबार की प्रतिमाएं, पोस्टर आदि भी खूब डिमांड में हैं। इतना ही नहीं रामचरित मानस, सुंदरकांड पाठ पुस्तिका, हनुमान चालीसा, राम आरती की पुस्तकें भी खूब डिमांड में चल रही हैं। ऐसे में समारोह के दिन कोर्ई कमी न हो, दुकानदारों ने इसके लिए विशेष इंतजाम किए हैं। दुकानदारों की मानें बाजारों में इस समय श्रीराम पताका और राम दरबार की प्रतिमा की डिमांड है।
एक दिन में लौटाए ५० हजार दीयों के ऑर्डर
प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दिन दीवाली मनाए जाने की तैयारियां जोरो पर हैं। लेकिन सर्दी का सितम दीये बनाने वाले कारीगरों पर पड रहा है। दीये बनाने के लिए ऑर्डर बडी संख्या में आ रहे हैं लेकिन मौसम ठंडा होने के कारण कच्चे दीये आसानी से नहीं सूख पा रहे हैं जिससे उनके बनने में दिक्कतें आ रही हैं। जटवाडा में दीये बनाने कारीगर श्रीचंद प्रजापति ने बताया कि पिछले २४ घंटे में ही ५० हजार दीये बनाने का ऑर्डर कैंसल कर चुके हैं, ऐसे में बाहर से रेडीमेड दीए मंगवाएं जा रहे हैं ताकि किसी तरह ऑर्डर को पूरा किया जा सके। श्रीचंद प्रजापति ने बताया कि इतना ऑर्डर कभी दीवाली में नहीं मिला। अधिकतर कारीगरों का यही हाल है। ऐसे में यही उम्मीद है कि कुछ दिन मौसम ठीक हो जाए तो ऑर्डर पूरे कर सकें।
राम मंदिर की तर्ज पर हो रही मंदिरों में सजावट
२२ जनवरी के विशेष आयोजन को लेकर शहर के मंदिरों में भी सजावट का काम शुरू हो गया है। मंदिरों को श्रीराम मंदिर की तर्ज पर सजाया जा रहा है। नवयुग मार्किट स्थित मां भगवती मंदिर में भी ऐसी सजावट की गई है। भगवा रंग के टैंट से जहां बाहरी परिसर को सजाया जा रहा है तो वहीं मंदिर के मुख्य गेट को श्रीराम मंदिर की भव्य तस्वीर के कटआउट से सजाया गया है। जिससे यह मंदिर भी श्रीराम मंदिर जैसे ही प्रतीत होता दिखाई दे रहा है। मंदिर के पुजारी ओपी चंद भारद्वाज ने बताया कि जब श्रीराम अपने स्थान पर विराजेंगे, यह सभी के लिए हर्ष का विषय होगा। इसके लिए मंदिर में विशेष आयोजन २२ जनवरी तक किए जा रहे हैं। जिसमें प्रतिदिन दोपहर ढाई से पांच बजे तक सुंदर कांड, सात से आठ बजे तक भजन कीर्तन, २० जनवरी को शोभा यात्रा शहर भ्रमण, २१ जनवरी को भजन कीर्तन और २२ जनवरी को ११ कुणीय हवन, राम भजन श्रंखला, म्रगशिरा नक्षत्र में राम लाल विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा समारोह का लाइव प्रसारण किया जाएगा।
श्रीराम प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपरांत भोग प्रसाद वितरण का आयोजन भी होगा। इसके लिए मिठाई की दुकानों पर विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। यहां तक की शहर की बडी दुकानों ने बाकायदा इस सम्बंध में बैनर लगवाकर कम दामों में श्रीराम भोग प्रसाद, छप्पन भोग प्रसाद का प्रचार किया जा रहा है। मिठाई की दुकानों पर बडे पैमाने पर मोतीचूर के लड्डू, छप्पन भोग प्रसाद तैयार किया जा रहा है।
दुकानदारों की मानें तो इसके लिए बडे ऑर्डर भी मिल रहे हैं। सबसे अधिक डिमांड मोतीचूर के लड्डू की है। इतना ही नहीं दुकानों पर अयोध्या की तर्ज पर प्रसाद के डिब्बे भी बनाए जा रहे हैं।