नोएडा (युगकरवट) कोरोना संक्रमण काल में गौतमबुद्धनगर पुलिस कमिश्नरेट में तैनात पुलिस कर्मी कई मोर्चों पर जूझ रहे हैं। कोरोना संक्रमण के भय से वर्दीधारी जहां एक तरफ सहमे है, वही वे पूरे शिद्दत के साथ अपनी ड्यूटी भी निभा रहे है। कोविड-19 में जहां अन्य सरकारी विभाग लुप्त प्राय हो गए हैं। वहीं पुलिस गैर लोग कई अन्य विभागों की जिम्मेदारियों को भी अपने कंधे पर ढो रहे है। मरीजों को दवाइयां पहुंचाने, अस्पताल में भर्ती कराने, ऑक्सीजन उपलब्ध कराने, प्लाÓमा डोनेट करने, तथा गरीब लोगों को खाने पीने की वस्तुएं उपलब्ध कराने आदि में भी पुलिसकर्मी लगे हुए हैं। जिसकी वजह से उनके संक्रमण की संभावनाएं Óयादा हो गई है।
काफी पुलिसकर्मी कोविड-19 से संक्रमित है। कुछ पुलिसकर्मी उपचार करा रहे हैं, जबकि कुछ पुलिसकर्मी संक्रमण की परवाह किए बिना रात दिन ड्यूटी में जुटे हैं। पुलिस कर्मियों के परिजन भी इससे अछूते नहीं है।
कई पुलिसकर्मियों के घर में पूरा परिवार संक्रमित है, फिर भी वे अपनी ड्यूटी पर तैनात हैं। क्योंकि उन्हें छुट्टी नहीं मिल रही है। उनके परिवार के लोगों की मदद करने वाला भी कोई नहीं है। एक उप निरीक्षक ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि उसके परिवार में & लोगों की मौत हो चुकी है। 2 लोग गंभीर रूप से बीमार है। लेकिन उन्हें छुट्टी नहीं मिल रही है। एक थानाध्यक्ष ने बताया कि उनके परिवार के कई लोग कोविड-19 से संक्रमित है। ड्यूटी की वजह से वह अपने परिवार का ध्यान नहीं रख पा रहे हैं। समाज का भी कोई वर्ग पुलिसकर्मियों व उनके परिजनों की मदद करने के लिए आगे नहीं आ रहा है।