युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नवरात्रें चल रहे है। दो दिन बाद दशहरा त्योहार भी है। मगर निगम शहर से कूड़ा नहीं उठवा पा रहा है। कई हजार मीट्रिक टन कूड़ा शहर में जगह जगह पड़ा हुआ है। स्थिति यहां तक है कि कूड़े से शहर में जगह जगह बदबू का आलम पैदा हो गया है। निगम हर रोज कहता है कि जल्दी ही कूड़ा उठान शुरू हो जाएगा मगर ऐसा नहीं हो पा रहा है। स्थिति यहां तक है कि शहर में जगह जगह कूड़े के ढ़ेर से शहर में दुर्गंद का माहौल पैदा हो गया है। शहर से हर रोज निकलने वाले कचरे को नगर निगम डलावघरों में ही ढेर लगाता जा रहा है। इससे स्थिति और भी भयावह हो गई है। दरअसल शहर से पिछले करीब पन्द्रह दिनों से कूड़ा नहीं उठ रहा है। जहां पहले कूड़ा डाला जाता था वहां बीजेपी के एक विधायक के कहने पर निगम ने कूड़ा डालना बंद कर दिया। निगम के पास अब ऐसी कोई जगह नहीं है जहां वह कूड़ा डाल सके। गत दिनों निगम ने अपनी गालंद की जमीन पर कूड़ा डालने की कोशिश की मगर वहां भी लोगों ने विरोध किया। धौलाना के विधायक ने तो इस विवाद के चलते निगम के अधिकारियों पर गलत टिप्पणी भी की। इसको लेकर अलग से विवाद भी चल रहा है। शहर से लगता है कि अभी कूड़ा नहीं उठने का मामला राजनैतिक हो गया है। बीजेपी के एक नेता अपनी विधान सभा एरिया में कूड़ा नहीं डालने दे रहे है। वहीं मेयर आशा शर्मा भी इस मामले का हल नहीं निकाल पा रही है।