युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। प्रदेश में विधानसभा चुनावों के पहले युवा वोटों को अपने पाले में करने के लिए भाजपा ने पूरी प्लानिंग कर ली है। इसके तहत पूरे प्रदेश में यूथ कॉन्क्लेव का आयोजन होने जा रहा है। इसमें अलग-अलग क्षेत्रों में कार्यरत युवाओं को शामिल किया जाएगा। यूथ कॉन्क्लेव नवम्बर में शुरू किया जाएगा। प्रदेश के 18 मंडलों में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले युवाओं तक पार्टी पहुंचने की कोशिश करेगी। प्रत्येक जिले में एक यूथ कॉन्क्लेव का आयोजन होगा। जिसमें विभिन्न प्रोफेसंस से जुड़े युवाओं को अपने विचार रखने के लिए मंच प्रदान किया जाएगा। हालांकि यह कार्यक्रम पार्टी के बैनर तले नहीं बल्कि भाजपा से जुड़े अन्य संगठनों के बैनर तले आयोजित किया जाएगा। इस पूरी कवायद के पीछे युवाओं को भाजपा से जोडऩे की रणनीति छिपी है। भाजपा चाहती है कि अगल अलग सेक्टरों से जुड़े युवाओं को पार्टी से जोड़कर उन्हे राष्ट्रवादी विचारों से और अधिक जोड़ा जाए। इसमें अधिकतर उन युवाओं को ही फोकस किया जाएगा जो हाल फिलहाल मतदाता बने हैं। इन कार्यक्रमों में पार्टी के युवा नेताओं को आमंत्रित किया जाएगा। इसके अलावा प्रवासी सम्पर्क प्रकोष्ठ के माध्यम से पार्टी प्रदेश के बाहर रह रहे प्रवासियों से सम्पर्क कर उन्हें अपने साथ जोडऩे का अभियान भी लगाएगी। जिला स्तर पर प्रवासी भारतीयों का सम्मेलन किया जाएगा। ये सम्मेलन दशहरा के बाद से शुरू होंगे। सूत्रों के अनुसार, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन महामंत्री सुनील बंसल ने इन कार्यक्रमों के लिए जिम्मेदारी दे दी है।